सीबीआई ने कसा एक और भाजपा के करीबी पर शिकंजा

बिग ब्रेकिंग

-पासपोर्ट मामले की जांच करते हुए नगर निगम पहुची सीबीआई टीम

हरिद्वार।
भाजपा के एक और करीबी पर सीबीआई ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। देश की एक प्रतिष्ठित संस्था कर महामन्त्री पर लगभग एक दशक पूर्व फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पासपोर्ट बनवाने की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई की टीम ने आज हरिद्वार नगर निगम पहुँचकर इनके जन्म प्रमाण पत्र की पत्रावली की जांच की। बता दें कि पूर्व में पुलिस द्वारा की गई जांच में पत्रावली निगम दफ्तर से गायब बता कर अंतिम रिपोर्ट लगा दी गई थी। गौरतलब है कि आयुर्वेद योग के नाम से पूरी दुनिया मे प्रसिद्वि पा चुके संस्था के महामंत्री फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के मामले में फस गए थे। आरोप था कि इनका जन्म नेपाल में हुआ था इन्होंने फर्जी रूप से अपना जन्म हरिद्वार दिखा रखा है। मामले की जांच सीबीआई कर रही है। नगर निगम के दफ्तर से जन्म प्रमाण  की फाइल गायब हो जाने के बाद जांच अधर में लटक गयी थी। पुुलिस ने जांच कर एफआर लगा दी थी। जबकि इनका जन्म स्थान नेपाल में होंने का दावा करने वाले ने पासपोर्ट में गलत जन्म स्थान देने की शिकायत की थी। पूरे मामले में जांच सीबीआई टीम को सौंपी गयी थी। देरादून सीबीआई कोर्ट में केस होने के दौरान इन्हें हाईकोर्ट से जमानत मिली थी।
सोमवार को सीबीआई के अपर पुुलिस अधीक्षक अखिल कौशिक के नेतृत्व में टीम ने हरिद्वार पहुच कर पासपोर्ट में इस्तेमाल जन्म प्रमाण की जांच को नगर निगम रिद्वार पुंची। जन्ममृत्यु प्रमाण बनाने वाले बाबूओं से पूछताछ  की गयी। दरअसल पास पोस्ट में जन्म स्थान को गलत दर्शाने के बाद किसी ने पासपोर्ट बनाने में धोखाध़ी करने का मुकदमा दर्ज कराया था। मामले की जांच
सीबीआई को सौंप दी गयी थी। सीबीआई टीम सोमवार को अचानक नगर निगम पहुच गई और अधिकारियों व बाबुओं से पूछताछ करने के बाद टीम लौट गयी। सीबीआई टीम के तीर्थनगरी में आकर एक दशक पुराने
मामले की जांच करने फिर शुरू करने से हड़कम्प मच गया है। वही दबी जवान में लोगो का कहना है कि कही अगला नम्बर इन्ही का तो नही।