आंधी तूफान से विधुत विभाग को लाखों का नुकसान

रानीपुर(राजीव शास्त्री/अनिल शीर्षवाल)।
बुधवार शाम क्षेत्र में आए तेज तूफान से सामान्य जनजीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त होकर रह गया है वही बिजली विभाग को लगभग 15 लाख रुपयों का भारी नुकसान पहुंचा है कल शाम है तूफान के चलते थक बिजली आपूर्ति अभी तक सुचारू नहीं हो सकी है बिजली विभाग के अवर अभियंता राम मनोहर शर्मा ने बताया कि तेज हवाओं के कारण ज्वालापुर सर्किल में लगभग 35 बिजली के खंबे और नगर में बिजली के ट्रांसफार्मर आसमानी बिजली गिरने से ट्रांसफार्मर फूक गया है बिजली विभाग के जेई सुरेश कुमार ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के 3 दर्जन से अधिक गांव जुड़े हैं लेकिन तूफान के कारण कई स्थानों पर और तारों पर पेड़ों की टहनियां टूटकर गिरने से पूरा क्षेत्र बिजली से महरूम चल रहा है गर्मी को देखते हुए बिजली विभाग की कई टीमें बिजली सुचारु करने में जुटी है देर रात को वैकल्पिक व्यवस्था द्वारा जोड़ा गया था दादूपुर गोविंदपुर सलेमपुर साहित दर्जनों गांव मैं अभी तक बिजली आपूर्ति सुचारू नहीं हो सकी है उल्लेखनीय है कि बहादराबाद फिटर का एरिया सबसे लंबा होने के कारण बिजली की लाइनों को दुरुस्त करने में कम से कम तीन से चार दिन का समय लग सकता है वैकल्पिक व्यवस्था के प्रयास किए जा रहे हैं शाम तक कुछ स्थानों को बिजली से जोड़ दिए जाने की संभावना है वही कल से ही सिडकुल क्षेत्र के बिजली भी गायब है जिस से सिर्फ उनकी खुशियों को भारी आर्थिक हानि उठानी पड़ रही है मशीनों के चक्के पूरी तरह जाम होकर रह गए हैं वही सिरपुर के आसपास रोशनाबाद हेतमपुर आने की औरंगाबाद आदि गांव भी पूरी तरह बिजली से महरूम हैं बिजली आपूर्ति ठप हो जाने से जनता को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है बिजली कटौती का सबसे अधिक प्रभाव पेयजल आपूर्ति पर पड़ रहा है कल से ही पूरे क्षेत्र की पेयजल व्यवस्था भी पूरी तरह ठप हो गई है जिस कारण जनता को पीने के पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है सरकारी कार्यालयों में भी अंधेरा पसरा हुआ है कोई कार्य नहीं हो पा रहा है छोटे उद्योग पूरी तरह बंद है बिजली आधारित लघु उद्योग फोटोस्टेट आटा चक्की कंप्यूटर का कार्य इंटरनेट सेवा पर भी बिजली आपूर्ति ना होने से विपरीत असर पड़ा है।