बहन के कातिल भाई गिरफतार, प्रेम विवाह से थे नाराज

लक्सर / खानपुर।
दो दिन पूर्व अब्दीपुर गांव में हुई प्रीती की हत्या उसके दो सगे भाईयों ने योजनाबद्ध तरीके से की थी। दोनों भाई पिछले छह महीने से प्रीती को ही नहीं, बल्कि उसके पति ब्रजमोहन को भी मारने की फिराक में थे। पुलिस ने पूछताछ के बाद उनके पास से हत्या में प्रयुक्त फावड़ा व कुल्हाड़ी बरामद कर उन्हें जेल भेज दिया है।
एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने रविवार को लक्सर कोतवाली में प्रेसवार्ता मे बताया कि खानपुर थाना क्षेत्र के शाहपुर निवासी नेपाल सिंह की पुत्री प्रीती ने करीब तीन साल पहले पास के ही धर्मुपुर गांव निवासी ब्रजमोहन से प्रेम विवाह किया था। उसके प्रेम विवाह करने से उसके दोनों भाई अरुण व कुलदीप नाराज थे। 17 मई की शाम को प्रीती अब्दीपुर में अपने मामा संतरपाल के घर अपनी चाची के साथ गई थी। 18 मई को दोनों भाई उसकी हत्या करने के इरादे से अब्दीपुर गॉव पहुंचे और फावड़े व कुल्हाड़ी से काटकर उसकी निर्मम हत्या कर दी थी।
एसपी देहात ने बताया कि दोनों भाईयों को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त फावड़ा व कुल्हाड़ी भी बरामद कर ली गई है।
पुलिस की पूछताछ में हत्यारे भाईयों ने खुलासा किया कि हुए पिछले छह महीने से प्रीती व उसके पति ब्रजमोहन को मारने की फिराक में थे। वे लगातार ब्रजमोहन से बातचीत करके उसे विश्वास में लेने की कोशिश कर रहे थे।
दोनों आरोपियों को घटना पर जरा भी अफसोस नहीं है। उनका कहना है कि ब्रजमोहन उनका गहरा दोस्त था और उसका उनके घर आना जाना था। ऐसे में उसने उन्हें अपनी बहन से अलग कर जो दुख दिया था, उसी दुख को अब वह भी भोगेगा। वार्ता के दौरान सीओ चंदन सिंह बिष्ट, लक्सर कोतवाल अमरचंद शर्मा व एसओ खानुपर भगवान मेहर आदि भी मौजूद रहे
गिरफ्तार करने वाली टीम में
एसओ भगवान महर, एसआई आशीष नेगी, रुकम सिंह, नरेश कुमार, संतराम तोमर, सिपाही संतोष कुमार, करन कुमार, संजय कुमार, मनमोहन आदि शामिल थे।