विभाग की लापरवाही ने हत्यारा बनाया

 

हरिद्वार।

बुधवार सुबह भेल कर्मी की हत्या करने वाले टस्कर को वापस चीला के जंगल मे भेजने के लिए। पार्क की टीम हाथी को काबू करने के सभी उपकरणों के साथ हरिद्वार रेंज में घात लगा चुकी है। अब हाथी के जंगल से बाहर आने का इंतजार है। पूर्व में भी 2 लोगो की हत्या और दर्जन भर से अधिक लोगो को घायल करने वाले वाले टस्कर को डेढ़ साल पहले हरिद्वार रेंज से शिफ्ट करके राजाजी पार्क की चीला रेंज में भेजा गया था।

पार्क की लापरवाही की भेंट चढ़ा भेल कर्मी 
राजाजी पार्क(पश्चिम) की सीमा से सटी भेल की कालोनी के निकट एक दर्जन से अधिक लोगो को घायल ओर 2लोगो की हत्या कर चुके टस्कर को पिछले  साल यहां से शिफ्ट करने के समय उसकी गतिवधि पर नज़र रखने के लिए रेडियो कॉलर लगाया गया था। दो माह पूर्व हाथी के वापस हरिद्वार रेंज में आने के बाद से हाथी लगातार भेल की सड़कों पर देखा गया। बावजूद इसके वन कर्मियों ने उसे वापस जंगल के खदेड़ने के अन्य कोई कार्यवाही नही की। ओर विभाग की लापरवाही के चलते बुधवार को हाथी के नाम एक ओर हत्या लिखी गयी। इस बाबत राजाजी पार्क के निदेशक सनातन सोनकर ने बताया कि हाथी पर लगातार नज़र रखी जा रही है। हाथी को बेहोश कर वापस चीला में भेजा जायगा। उन्होंने बताया कि इस बार उसको हाथी कैम्प में रख कर प्रक्षिक्षण दिया जायेगा।