जिसके साथ नेता कम, उसके साथ है जनता का बल। निर्दलीय अनिल वशिष्ठ वार्ड 5 में सबसे आगे

 

हरिद्वार।
अनिल वशिष्ठ को मिल रहा जनता का भरपूर आशीर्वाद। वार्ड नंबर -5 से निर्दलीय प्रत्याशी अनिल वशिष्ठ की साफ स्वच्छ छवि ओर सालो से उनके द्वारा की जा रही जनसेवा का ही फल है कि क्षेत्र की जनता उनपर विश्वास करती है। 20 साल भाजपा के लिए कर्मठता से कार्य करने के बाद भी जब क्षेत्र के विकास के मुद्दे पर जब उनकी किसी ने न सुनी तो उन्होंने विकास के मुद्दे को लेकर निर्दलीय चुनाव लड़ने का निर्णय लिया। जिस कारण निर्दलीय प्रत्याशी होने के बावजूद भी अनिल वशिष्ठ का कद अपने प्रतिद्वंदी प्रत्याशियो  से कही बडा हो गया है।
भाजपा  के लिए  दिन रात  कार्यकर्ता के रूप में काम किया  भाजपा का  जो बीज  क्षेत्र में रोपा था।  उसे  पौधा  और पेड़ बनाने के लिए दिन रात एक किए  लेकिन पार्टी नेताओं की गलत नीति के कारण उसी पार्टी संगठन को छोड़ते हुए बहुत दुख होता है यह बात भाजपा के बागी खड़े हुए पार्षद प्रत्याशी अनिल कुमार वशिष्ठ ने कही। वशिष्ठ की आंखों में आंसू थे और जुबान लड़खड़ा रही थी।