नेताओ पर लगाए आरोप, क्यों किया भाजपा नेताओं का बहिष्कार

हरिद्वार।
धर्मशाला प्रबंधकों ने सामुहिक रुप से धर्मार्थ धर्मशाओं के प्रांगण शौचालयों मूत्रालयों पर अत्याधिक दर से लगाए गये जजिया गृहकर को सरकार द्वारा पूर्णतया समाप्त न किये जाने तक सत्ताधारी भाजपा के नेताओं का सामाजिक, धार्मिक बहिष्कार करने की बात कही। 
अखिल भारतीय धर्मशाला प्रबंधक सभा के नेतृत्व में सैकडों धर्मशाओं के प्रबंधकों ने सरकार द्वारा धर्मशाओं के प्रांगण शौचालयों मूत्रालयों पर अत्याधिक दर से लगाए गये जजिया गृहकर के विरोध में 3मई 2018 को मुख्यमंत्री आवास के बाहर धार्मिक रीति रिवाज से भजन कीर्तन कर जजिया कर को पूर्णरुप से निरस्त कराने की मांग उठाई थी। साथ ही घोषणा की थी कि यदि मुख्यमंत्री ने विसंगतियुक्त शासनादेश जनहित, धर्महित में समाप्त नही किये जाने तक हरिद्वार में आयोजित होने वाले अनेंको धार्मिक मेला पर्वो विशेषकर कुम्भ मेला-2021 में हरिद्वार की सैकडो धर्मशालाओं द्वारा यात्रियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों को आवास की व्यवस्था से वंचित किया जाएगा। जब तक धर्मशालाओं पर विगत 30वर्षो से चली आ रही गृहकर लगाने की व्यवस्था को लागू नही कराया जाएगा। इस दौरान भाजपा सत्ताधारी नेताओं का सामाजिक धार्मिक बहिष्कार समस्त धर्मशाला संचालक और प्रबंधक करते रहेगे। जिससें इन नेताओं की धर्म सम्बधी कथनी करनी का भेदभाव आम जनमानस में उजागर हो जाए। यह निर्णय अखिल भारतीय धर्मशाला प्रबंधक सभा की बरेली धर्मशाला में आयोजित बैठक में लिया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए रमेशचन्द शर्मा ने भाजपा नेताओं पर आरोप लगाया कि आज से 30वर्ष पूर्व भाजपा के नगर पालिका अध्यक्ष राजकुमार अरोडा ने एकतरफा गृहकर धर्मशालाओं पर लगाया था। वही दानरुप में प्राप्त ईश्वर कौर धर्मशाला रेलवे रोड को नाजायज रुप से बेच दिया गया था। उसके बाद फूलवती धर्मशाला खडखडी को सांसद रमेश पोखरियाल निशंक के करीबी भाजपा नेता ने अवैध रुप से कब्जा लिया था। विश्व हिन्दु परिषद एवं बजरंग दल ने मुरलीमल धर्मशाला तथा डालूराम-कनीराम धर्मशाला ललतारौ पुल पर नाजायज कब्जा जमा रखा है। हरिद्वार के प्रमुख क्षेत्र बडी मण्डी स्थित दो विशाल धर्मशालाओं पर वर्तमान में भाजपा नेताओं ने कब्जा जमा रखा है। निवर्तमान मेयर मनोज गर्ग ने बसन्त भवन धर्मशाला के ट्रस्ट का नाजायज गठन कर कब्जा जमा रखा है। रही सही कसर मुख्यमंत्री ने विसंगतियुक्त शासनादेश द्वारा हरिद्वार की समस्त धार्मिक धर्मशालाओं धर्मार्थ ट्रस्ट भवनों को जजिया गृहकर लगाकर समस्त धर्मशाला एवं धार्मिक सम्पत्तियों को नेस्तनाबूत करने का धर्म विरोधी आचरण किया है। जिसके खिलाफ आज से प्रतिकारात्मक विरोध स्वरुप समस्त धर्मशाला संचालक एवं प्रबंधक भाजपा सरकार के खिलाफ नित्य जारी रखेंगे। बैठक में संगठन मंत्री राजेन्द्र कुमार, कौशल शर्मा, एवं कोषाध्यक्ष बलदेव शर्मा ने भी सरकार के इस धर्म विरोधी जजिया कर रुपी निर्णय के खिलाफ विभिन्न सामाजिक-धार्मिक संगठनो से सामुहिक सहयोग मांगते हुए एक बडा जन आन्दोलन इन धार्मिक सम्पत्तियों की रक्षा हित में चलाने की मांग की है।