धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार हुआ टीचर, भर्ती परीक्षा का टॉपर

आगरा । 2015 में हुए प्राइमरी टीचर भर्ती परीक्षा में फिरोजाबाद पुलिस ने परीक्षा के टॉपर को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया है। दरअसल आरोपी टीचर ने नौकरी पाने के लिए फेक मार्कशीट का सहारा लिया था। यहां तक कि वह बेसिक सवालों के जवाब भी नहीं दे पाया। मानव शरीर में हड्डियों की संख्या पूछने पर उसने जवाब में बताया कि मानव शरीर में 256 हड्डियां होती है। शिकोहाबाद निवासी आरोपी आशीष कुमार (28) को 2015 में मेरिट के आधार पर प्राइमरी टीचर भर्ती में चुना गया था। उसने 88 फ़ीसदी मार्क्स वाली बीपीएड की जाली मार्कशीट डॉक्यूमेंट के साथ दी थी। साल 2015 में बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा जिले में प्राइवेट स्कीम 12,460 भर्ती निकाली गई। इस भर्ती में आशीष कुमार जिले का टॉपर साबित हुआ था। सीडीओ नेहा जैन के नेतृत्व में की गई जांच के दौरान उसकी जालसाजी का भंडाफोड़ हुआ।
एक बातचीत के दौरान सीडीओ नेहा ने बताया कि मेरिट के आधार पर आशीष को उमेदपुर गांव के प्राइमरी स्कूल में 3 मई 2018 को बतौर प्राइमरी टीचर नियुक्त किया गया था। उन्होंने बताया कि नियुक्ति के समय उसकी मार्कशीट का क्लॉसडिफिकेशन नहीं हो पाया था। हम तो बाद में जब कई फर्जी नियुक्तियों की बात सामने आई तो हमने जांच की। डीएम नेहा शर्मा के नेतृत्व में इस मामले की जांच के लिए कमेटी बनाई गई। इस कमेटी ने आशीष की प्रोफाइल खंगाली और पाया कि उसमें फर्जी मार्कशीट जमा की थी। डीएम ने बताया कि आशीष तब बुरी तरह फंस गया जब वह हमारे बेसिक सवालों का जवाब तक नहीं दे सका। उसने बताया कि मानव शरीर में 256 हड्डियां होती हैं। इसके अलावा टीईटी का फुल फॉर्म पूछे जाने पर उसने ट्रेनिंग एजुकेशन ट्रेनिंग बताया, जो कि गलत था। इतना ही नहीं वह कक्षा 4 के गणित के बेसिक सवाल भी हल नहीं कर पाया। पूरे मामले में एसपी ग्रामीण महेंद्र कुमार ने कहा कि यह बहुत हैरान करने वाली बात है। मुझे शक है कि वह बिल्कुल भी पढ़ा लिखा नहीं है, टॉपर तो दूर की बात है। उसके खिलाफ पुलिस ने आईपीसी 419, 466 और 468 के तहत मामला दर्ज किया गया है।