सपा-बसपा ने शुरु किया ‘भ्रष्टाचार में साझेदारी का अभियान’: मोदी

आगरा । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उप्र के प्रमुख विपक्षी दलों समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसे लोगों ने ‘भ्रष्टाचार में साझेदारी का अभियान’ शुरू किया है और एक दूसरे के घपलों-घोटालों को छिपाने के लिए हाथ मिला रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग इकटठा होना शुरू हो गये हैं और ये भी स्पष्ट दिख रहा है। उत्तर प्रदेश में तो आप ये भी देख रहे हैं कि बालू-मौरंग लेकर जो शोषितों का खा गये, ऐसे लोगों ने भ्रष्टाचार में साझेदारी का अभियान शुरू किया है। प्रधानमंत्री ने सवर्ण समाज के गरीबों के लिए आरक्षण को ऐतिहासिक पहल करार देते हुए कहा कि यह फैसला देश के उन लाखों युवाओं को अवसर देगा जो गरीबी के कारण पीछे रह जाते हैं ।
पर्यटन नगरी में बुधवार को यहां 3907 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। उन्होंने आगरा जल सम्पूर्ति यानी गंगाजल योजना की शुरुआत की। इसके अलावा उन्हांेने आगरा को विश्व स्तरीय स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित करने के लिये एकीकृत कमाण्ड एवं नियंत्रण केन्द्र की आधारशिला भी रखी। गंगाजल योजना से आगरा को बेहतर जलापूर्ति उपलब्ध हो सकेगी। इससे ना सिर्फ शहरवासियों बल्कि यहां आने वाले पर्यटकों को भी लाभ होगा। परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने के बाद एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि एक दूसरे के घोटालों-घपलों को छिपाने के लिए वो (सपा-बसपा) हाथ मिला रहे हैं जो कभी आंख मिलाने और देखने को तैयार नहीं थे। राजनीतिक स्वार्थ के लिए लखनऊ के गेस्ट हाउस का वो शर्मनाक कांड, उसे भी भुला दिया। मुजफ्फरनगर सहित पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अनेक हिस्सों में क्या हुआ, उसे भी भुलाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा किये सिर्फ इसलिए हो रहा है क्योंकि चैकीदार जागता है। चैकीदार सामने खडा हुआ है, पूरी ईमानदारी के साथ खडा है। चैकीदार को हटाने के एकमात्र अभियान के लिए वो हर तिनके और टुकडे जोड रहे हैं। जब जांच एजेंसियां उनके काम का हिसाब मांग रही हैं तो ये चैकीदार के विरूद्ध ही साजिश रच रहे हैं।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निषाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अब मिशेल मामा की कथा तो बराबर याद हो गयी ना। अब वो राजदार हिन्दुस्तान के कब्जे में आ गया है इसलिए उनका पसीना छूटा हुआ है कि ये कुछ बोल देगा तो क्या होगा। इसलिए राजदार को जैसे ही पकडकर लाये तो कांग्रेस ने अपना एक वकील उसकी रक्षा के लिए तुरंत भेज दिया। उन्होंने कहा कि ये क्या दिखाता है। अगर राजदार की मदद में कांग्रेस का वकील पहुंच जाता है उसे बचाने के लिए, तो दाल में काला है ये देखने के लिए समय लगेगा क्या।