एएमयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन का विवादित बयान

 मस्जिद के पक्ष में फैसला आया तो ‘वो’ बहा देंगे खून की नदियां: फैजुल हसन
अलीगढ़। राम मंदिर को लेकर एएमयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन ने विवादित बयान में कहा है कि अगर मस्जिद बनाने के लिए फैसला आया तो वो पूरे मुल्क में हर जगह खून की नदियां बहाने से नहीं चूकेंगे। अल्लाह से दुआ करता हूं कि इस मुल्क की अस्मत और आबरू की हिफाजत होती रहे। हालांकि उन्होंने वो शब्द का प्रयोग किसके लिए किया, यह बात उन्होंने अपने बयान में स्पष्ट नहीं की है। छात्र नेता ने आगे कहा है कि बाबरी मस्जिद सिर्फ एक आस्था ही नहीं, बल्कि मुसलमानों के अस्तित्व का मामला है। कल को अगर कोर्ट का फैसला मस्जिद के खिलाफ आया, तो मुसलमान अपने मुल्क की किसी भी चीज को नुकसान नहीं पहुंचाएगा। अगर मुसलमान बाबरी मस्जिद से अपनी दावेदारी हटा लें तो फिर इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा कि बनारस की ज्ञानवापी मस्जिद, जामा मस्जिद की अस्मिता पर कोई दावेदारी नहीं करेगा। उन्होंने आगे कहा कि साक्षी महाराज जैसे सांसद संवैधानिक पद पर रहते हुए भी नारा देते हैं कि काशी, मथुरा, अयोध्या छोड़ो, जामा मस्जिद तोड़ो। यह देशहित में ठीक नहीं है।