गरीब के निवाले की बिसात पर सियासी शतरंज


हरिद्वार।
लॉक डाउन के दौरान भाजपाई नेता सियासत की बिसात भी बिछा रहे हैं। शासन—प्रशासन दावा कुछ भी करे लेकिन हकीकत में गरीबों के राशन पर भेदभाव की राजनीति के आरोप भाजपा पर ही नहीं लग रहे बल्कि प्रशासन पर भी भाजपा के दबाव में काम करने की उंगलियां उठ रही हैं।
प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बार-बार राजस्व विभाग द्वारा जांच कराकर ही जरूरतमंदो तक राशन पहुंचाने का दावा किया जा रहा है। प्रशासन राशन वितरण मेेंं किसी भी राजनीतिक दल के हस्तक्षेप से साफ मना कर रहा है। लेकिन आरोप लगाने वालों की मानें तो धरातल पर कुछ आेर दिख रहा है। जगजीतपुर के वार्ड नंबर 56 हो या भीमगोड़ाा वार्ड नंबर 5 या कोई भी वह वार्ड जहां भाजपा के पार्षद नही है, वहां के पार्षदों द्वारा जरूरतमंदों की जो सूची पटवारी को दी गई थी। लेकिन उस लिस्ट को अनदेखा कर दिया गया। वार्ड 56 के पार्षद उदयवीर सिंह चौहान के अनुसार लाक डाउन के पहले दिन से ही जरूरतमंदों को सरकारी राशन देने की घोषणा के बाद कई बार क्षेत्र के पटवारी से संपर्क किया गया। लेकिन वह केवल आने के बहाने ही बनाता रहा। जब घर-घर घूमकर जरूरतमंदों की जानकारी एकत्र की और उनकी लिस्ट बनाकर पटवारी को सौंपी तो उस लिस्ट पर भी कोई कार्य नहीं हुआ। इसके विपरीत क्षेत्र से हारे भाजपा के प्रत्याशी द्वार बनाई लिस्ट पटवारी खुद लेने के लिए उसके घर तक गया था। जिन जरूरतमंदों के नाम भाजपा पार्षद द्वारा लिस्ट में दिए गए शायद उन्हीं को ही राशन मिल पाया। उन्होंने बताया कि जो सच में जरूरतमंद है उन्हें हमने अपनी आेर से राशन खरीद कर मदद की है। प्रशासन का तरीका भी पूरी तरीके से ठीक नहीं है। जिन लोगों के आधार राशन कार्ड से लिंक है। वह झबरेड$ा के रहने वाले हैं। यहां किराए पर रहते हैं। उन्हें कोई राशन यहां पर नहीं दिया गया। जबकि वह राशन लेने झबरेड$ा जा नहीं सकते। ऐसे और भी कई लोग हैं। जिनके राशन कार्ड आधार से लिंक ना होने के कारण उन्हें कोई राशन नहीं दिया गया। वही वार्ड नंबर 5 के निर्दलीय पार्षद अनिल वशिष्ठ ने बताया कि भाजपा के हारे हुए प्रत्याशी द्वारा पूरा षड्यंत्र रचा जा रहा है। वह वार्ड – ५ और ६ में किसी को भी ठीक से कार्य नहीं करने दे रहे हैं। गोल गुरुद्वारा राज नगर क्षेत्र में के पार्षद अनुज सिंह ने बताया कि पटवारी को १२० जरूरतमंद लोगों की सूची सौंपी गई थी। जिसमें से महज ४० लोगों को भी राशन प्राप्त हो पाया था। जो कभी का उनके पास खत्म भी हो चुका है। उन्होंने बताया कि वही भाजपा नेताआें की आेर से ३०० किट उन लोगों को बांटी गई जो पूरी तरह से संपन्न हैं। उन्होंने बताया कि हम अपने स्तर से जरूरतमंदों की सेवा कर रहे हैं। कांग्रेस महानगर उपाध्यक्ष निशा शर्मा ने कहा कि भाजपा एेसे संकट काल में भी राजनीति कर रही है। भाजपा नेताआें द्वारा एेसे लोगों को राशन बांटा जा रहा है जो उनका वोट बैंक है। भले ही उसे जरूरत हो अथवा नही। उन्होंने बताया कि जगजीतपुर के शिवपुरी में ही एेसे दर्जनों मजदूरों के परिवार हैं जिनके पास राशन कार्ड नहीं है और वह किराए पर रहते हैं। उन्हें आज तक ना तो सरकारी मदद मिली है ना मिलने की उम्मीद है। बार-बार तहसील और अधिकारियों के चक्कर लगा लगाकर उन गरीब परिवारों का बुरा हाल है।