शांतिकुंज प्रमुख पर हुई रिपोर्ट पहुँची नगर कोतवाली एसएसपी के की जांच टीम गठित

हरिद्वार।
शाहदरा दिल्ली के थाना विवेक विहार में चार दिन पूर्व छत्तीसगढ की युवती ने हरिद्वार की धर्मिक संस्था शांतिकुंज के प्रमुख और उनकी पत्नी पर पर दस साल पूर्व दुष्कर्म किये जाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। दिल्ली पुलिस ने पीडिता की शिकायत पर जीरो पर मुकदमा दर्ज कर हरिद्वार कोतवाली नगर में स्थान्तरित कर दिया। कोतवाली नगर पुलिस ने सम्बंधित धराआें में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दिया है। दुष्कर्म मामले में एसएसपी द्वारा सीआे सदर के नेतृत्व में जांच टीम गठित की गयी है।
गौरतलब है कि चार दिन पूर्व छत्तीसगढ की एक युवती ने शाहदरा दिल्ली के थाना विवेक विहार में तहरीर देते हुए आरोप लगाया था कि हरिद्वार की प्रमुख धर्मिक संस्था शांतिकुंज के डॉक्टर द्वारा उसके साथ वर्ष 2१0 में दुष्कर्म किया था। उस वक्त वह 14 साल की थी, डॉक्टर द्वारा लगातर चार वर्षो तक उसके साथ दुष्कर्म किया जाता रहा। जिसकी शिकायत उसके द्वारा उनकी पत्नी से भी कई बार की गयी, लेकिन उन्होंने भी उसको डरा धमका कर चुप रहने के लिए धमकी दी गयी। पीडिता ने तहरीर में कहा गया हैं कि उसके गांव के एक शांतिकुंज के कार्यकत्र्ता द्वारा उसको संस्था में भोजन की व्यवस्था, उसकी शिक्षा सहित शादी कराने की बात कहते हुए हरिद्वार लाया गया था। जहां पर उसके साथ डॉक्टर द्वारा अपने कमरे में कॉफी देने पहुंचने पर कई बार दुष्कर्म किया गया। चूंकि मामला उत्तराखण्ड के हरिद्वार से जुड$ा था, इसलिए दिल्ली पुलिस ने पीडिता की तहरीर पर मुकदमा जीरो पर दर्ज कर सम्बंधित कोतवाली नगर को स्थान्तरित कर दिया है। इस मामले पर एसएसपी सेथिंल अबुदेई कृष्णराज एस द्वारा सीआे सदर डा. पूर्णिमा गर्ग के नेतृत्व में एक जांच टीम गठित की गयी है। जिसमें जांच अधिकारी महिला हैल्प लाईन प्रभारी मीना आर्य को बनाया गया है। वहीं टीम में सहयोग के लिए ज्वालापुर प्रभारी निरीक्षक योगेश सिंह देव को भी शामिल किया गया है। मामला हाईप्रोपफाइल होने के कारण पुलिस के आलाधिकारी भी प्रकरण को गम्भीरता से ले रहे है। कोतवाली नगर प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कोश्यारी के अनुसार दिल्ली से स्थान्तरित होकर पहुंची जीरो एफआईआर को सम्बंधित धराआें में दर्ज कर लिया गया है।