संकल्प प्रकाश का प्रयास बना मिल का पत्थर, फूड हेल्प ग्रुप बना पहचान

हरिद्वार।

एक छोटा सा प्रयास, कभी—कभी मिल का पत्थर सबित हो जाता है। एेसा प्रयास कितनों को प्रेरणा देता है। एेसा ही एक प्रयास संकल्प प्रकाश द्वारा किया गया। लॉक डाउन शुरु होने के साथ ही संकल्प प्रकाश संस्था ने व्हाट्अप ग्रुप फूड हेल्प हरिद्वार के नाम से बनाया। जो आज प्रशासन व सामाजिक संस्थाआें के बीच समन्वय बनाने के लिए एक सेतू का काम कर रहा है। ग्रुप पर एक पोस्ट डालते ही उस क्षेत्र में काम कर रही समाजिक संस्था सक्रिय हो जाती है, और तुरन्त ही जरुरतमंदों तक चंद मिनटों में मद्द पहुंच जाती है।

लॉक डाउन के दौरान कोई भूखा न सोये, और हर जरुरतमंद तक मद्द पहुंचे इसके लिए संकल्प प्रकाश समाजिक संस्था द्वारा भोजन वितरण व्यवस्था में जानकारियों को सांझा करने के लिए व्हाट्अप पर फूड हेल्प हरिद्वार के नाम से ग्रुप बनाया गया। 25 मार्च को संस्था के सदस्य शेखर सतीजा द्वारा बनाये गये ग्रुप में कार्यकर्ताआें के साथ जिले के कुछ आला अधिकारियों को भी जोड़ा गया। तत्कालीन नोड़ल अधिकारी अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह व अपर मेलाधिकारी ललित नारायण मिश्रा को भी ग्रुप का एडमिन बनाया गया। ग्रुप मे माध्यम से प्रशासन व संस्था में समन्वय की पहल की गयी थी। उस समय किसी ने सोचा भी नही होगा कि एक समान्य का व्हाट्सप ग्रुप प्रशासन के लिए बड़ा सहयोगी सबित होगा। साथ ही जरुरतमंदों को मद्द पहुंंचने में अपनी करागर भूमिका निभायेंगा। अपर मेलाधिकारी ललित नारायण मिश्रा ने ग्रुप का विस्तार करते हुए इसमें स्वयंसेवी संस्थाआें को जोडना शुरु किया। फूड हेल्प हरिद्वार ग्रुप के माध्यम से क्षेत्र में मांग के आधार पर तुरन्त आपूर्ति होने लगी। प्रशासन व सामाजिक संस्थाआें के आपासी समन्वय की यह पहल मिसाल बन गयी है। इस ग्रुप की कार्य प्रणाली को देखकर अन्य क्षेत्रों में भी इस तरह के ग्रुप प्रभावी हुए हैं। इस ग्रुप में सहारानीय बात यह है कि विभिन्न राजनीतिक दलों से संबंधित लोग भी इसके सदस्य है, जो बिना किसी राजनीतिक बहसबाजी के इसमें सहयोगी की भावना से जुडे हुए है। ग्रुप में उत्तरांचल पंजाबी महासभा, राधा स्वामी सत्संग संस्था, कालेज आफ इंजीनियरइंग रूडकी, श्रीगंगा सभा ,गोलगुरुद्वारा युवा समिति, श्रीराधा कृष्ण धाम, सिडकुल एसोसिएशन, अन्नपूर्णा सत्यनारायण संस्था, कश्यप फाउंडेशन,हरिद्वार व्यापार मण्डल, आरएसएस हरिद्वार, बजरंग दल, संत शिरोमणि पूज्य बाबा, अग्र सेवक, कनखल मण्डल मोदी किचन, भेल क्षेत्रिय समाज, बीइंग भगीरथी, आेम आरोग्य योग मन्दिर ट्रस्ट,ऑल आेवर ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसियेशन, श्रीराम नाट्य संस्थान,भीमगोड़ा,सुप्रयास अन्नपूर्णा रसोई,सर्व सेवा संगठन समिति, हीरो मोटोकोर्प, अन्नपूर्णा रसोई, आर्दश युवा समिति,हेल्पिंग हैंड्स टीम, शिव सदन आश्रम, शान्ति कुंज, बाबा बंसी वाले आश्रम आदि जैसी बड$ी संस्थाएं जुडी है, और सबने ढान लिया है की हरिद्वार मे कोई भी भूखा न सोए, और इस मकसद को पूर्ण करने मे सभी संस्थाएं एकजुटता के साथ अभियान को सफल बनाने में लगी है। ग्रुप मे 20 से ज्यादा सदस्य है। लगभग 25 प्रमुख संस्थाआें के साथ ही 4—5 वालंटियर्स और हरिद्वार के जिलाधिकारी सी.रविशंकर, सीडीआे विनित तोमर जैसे अधिकारी भी जुड$े हुए हैं। जो समय समय पर ग्रुप में अपनी सक्रियता बरकरार रखते है।

संकल्प प्रकाश के अध्यक्ष रविंदर शर्मा ने बताया कि ग्रुप को बनाने का उद्देश्य सिर्फ इतना ही था कि कोई भी कही भी भूख न रहे। आपास के समन्वय से जरुरतमंदों तक मद्द पहुंचाये। संकल्प प्रकाश के संस्थापक कन्हैया खेवडिया ने बताया कि हमारे प्रयास से आज सभी स्वयंसेवी संस्थाएं जुड रही है। यह हमारे लिए गौरव की बात है।

नोडल अधिकारी नरेन्द्र यादव का कहना है कि फूड हेल्प हरिद्वार ग्रुप से संस्थाआें व प्रशासन के बीच आपासी समन्वय बढ़ा है। ग्रुप के माध्यम से एक-दुसरे से जानकारियां सांझा करने के साथ ही जरुरतमंदों तक हर संभव मद्द पहुंचाई जा रही है।