हरिद्वार एक नज़र

एसएसपी ने दरोगा रोबिन बिष्ट को दी श्रद्धांजलि
हरिद्वार।
दो दिन पहले उत्तराखण्ड पुुलिस महकमे में रुद्रप्रयाग में तैनात दरोगा की अचानक मौत हो गई थी। दरोगा के पार्थिव शरीर को खडखडी श्मशान घाट में लाया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक समेत पुलिस अधिकारियों ने श्रद्धासुमन अर्पित किए। पुुलिस कर्मियों ने गार्द व सलामी दी गई। सलामी के बाद गमगीन माहौल में मृतक के बडे भाई ने शव को मुखाग्नि दी। दरोगा की छह माह पहले ही शादी हुई थी।
खडखडी श्मशान घाट पर सुबह लगभग साढे दस बजे रुद्रप्रयाग में तैनात दरोगा रोबिन बिष्ट का पार्थिव शरीर लाया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अब्बूदई कृष्णराज एस, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह, नगर कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह, रोडी बेलवाला पुलिस चौकी प्रभारी पवन डिमरी, खडखडी पुलिस चौकी प्रभारी विजय प्रकाश, मायापुर पुुलिस चौकी संजीव कंडारी समेत पुलिस अधिकारियों ने दरोगा के पार्थिव शरीर पर श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। श्रद्धांजलि  के बाद पुलिस विभाग की ओर से गार्द सलामी दी गई। वर्ष 2015 बेच के दरोगा की अचानक हुई मौत से पुलिस महकमा सदमे में था। गमगीन माहौल में मृतक की बडे भाई रोहित बिष्ट ने शव को मुखाग्नि दी।  मूल रूप से पौडी गढवाल के रहने वाले रोबिन बिष्ट  का भगत सिंह कलोनी रायपुर देहरादून में निवास है। पूरा परिवार देहरादून में ही रहता है। करीब छह माह पहले की रोबिन बिष्ट की शादी हुई थी। वर्तमान में उनकी रुद्रप्रयाग में तैनाती थी दो दिन पहले ही अचानक पेट में दर्द होने की वजह से उपचार के लिए अस्पताल लाया गया था। जहां दरोगा की मौत हो गई थी। पार्थिव शरीर को उनके निवास देहरादून ले जाया गया। शुक्रवार की सुबह परिजन खडखडी श्मशान घाट पर शव को अंतिम संस्कार के लिए लाए। ड्यूटी के दौरान दरोगा की मौत से पुलिस विभाग में मातम पसरा हुआ था। खडखडी श्मशान घाट पहुंचने पर एसएसपी समेत आला अधिकारियों ने पहुंच कर पार्थिव शरीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित श्रद्वांजलि दी और परिजनों को सांत्वना दी।
-—-—-—-—-—-—-—-—
श्रीलंका टूरिस्ट के लिए मददगार बनकर सामने आई मित्र पुलिस
हरिद्वार।
श्रीलंका से तीर्थ नगरी में आए टूरिस्ट का जरूरी सामान गुम हो गया। सामान गुम होने पर उसके बाद अपने देश वापस लौटने के लिए कुछ नहीं बचा। इधर उधर से बातचीत करने पर मदद न मिली तो पुलिस को अपनी पीड$ा सुनाई। विदेशी मेहमान को तकलीफ में देख महिला दरोगा उसके लिए मददगार बनकर सामने आयी। सप्ताह भर की मशक्कत के बाद आखिर विदेशी मेहमान को दिल्ली स्थित दूतावास भेजा गया। आपसी सहयोग से  आर्थिक रूप से भी मदद की। पुलिस की कार्यशैली से विदेशी मेहमान भी प्रशंसा करते फूला नहीं समा रहा था।
नगर कोतवाली अंतर्गत विष्णु घाट से 5 जून को श्रीलंका से आए टूरिस्ट केवीडी पुनीत विजय शेखर के दो बैग गुम हो गए। टूरिस्ट के बैग गुम हो जाने पर उसने आसपास के लोगों से संपर्क कर बैग के बारे में जानकारी हासिल करनी चाहिए। भाषा का तालमेल न होने के कारण कोई उसकी परेशानी को नहीं समझ रहा था। ऐसे में उसके पास दूसरा कोई रास्ता नहीं था वह नगर कोतवाली पुलिस के पास पहुंचा। जहां उसने अपनी समस्या बताई उसके बैग गुम हो गए हैं। बैग में उसका पासपोर्ट एटीएम व अन्य सामान था। कोतवाली में तैनात महिला दरोगा लक्ष्मी मनोला ने विदेशी मेहमान को निराश नहीं होने दिया। पूरी तन्मयता से मदद में जुट गई पहले तो एलआईयू को सूचना दी। एलआईयू से जानकारी लेने के बाद दिल्ली स्थित श्रीलंका दूतावास से संपर्क किया। और टूरिस्ट के समस्या को हल करने के बारे में जानकारी ली। दूतावास से डुप्लीकेट पासपोर्ट बनाने के लिए उसका जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट की फोटोकापी व पुलिस की लिखित रिपोर्ट मांगी गई। महिला दरोगा ने टूरिस्ट की श्रीलंका में रहने वाली बहन से संपर्क कर उसकी दस्तावेज मंगवाए। इस प्रक्रिया में कई दिन लग गए। विदेशी मेहमान व खाने की व्यवस्था नगर कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह ने पूरी की दस्तावेज पूरे होने के बाद महिला दरोगा ने दोबारा श्रीलंका दूतावास से संपर्क कर जानकारी ली। दूतावास से हरी झंडी मिल जाने के बाद विदेशी मेहमान को आपसी सहयोग से धनराशि इक_ा कर देने के बाद दिल्ली के लिए रवाना किया गया। श्रीलंका से आए टूरिस्ट ने उत्तराखंड पुलिस की मित्र छवि का तहेदिल से शुक्रिया अदा किया।
-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—
हजारों की चरस के साथ एक गिरफ्तार
हरिद्वार।
ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में पुलिस ने गश्त के दौरान एक संदिग्ध व्यक्ति को हजारों रुपए की चरस के साथ गिरफ्तार किया। पूछताछ करने के बाद आरोपित के विरुद्ध संबंधित धाराओ में मुकदमा दर्ज कर मेडिकल कराने के बाद जेल भेज दिया। पुुलिस चरस को बेचने वाले की तलाश कर रही है।
ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि गश्त के दौरान पुलिस टीम को धीरवाली बैरियर के पास एक संदिग्ध युवक आते हुए दिखाई दिया। पुलिस टीम को देखकर युवक ने भागने का प्रयास किया पर सफल नहीं हो पाया। युवक की तलाशी लेने पर उसके पास से काफी मात्रा में चरस बरामद हुई। कोतवाली लाकर पूछताछ करने पर आरोपी ने अपना नाम रिजवान पुत्र इरशाद निवासी अहबाब नगर ज्वालापुर बताया। चरस को अवैध रूप से बेचने के लिए किसी से सस्ते दाम पर खरीद कर लाया था। कब्जे से मिली 20 ग्राम चरस की कीमत हजारों रुपए आंकी गई है। मुकदमा दर्ज कर मेडिकल कराने के बाद जेल भेज दिया।
-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-
उधारी की रकम मांगने पर दुकानदार से की मारपीट तीन के विरुद्ध मुकदमा दर्ज
हरिद्वार
ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में दुकानदार ने उधार दिए सामान के पैसे मांगे तो दो भाइयों ने अपने साथी के साथ मिलकर दुकानदार के साथ गाली -गलौज किया और मारपीट की। दोबारा पैसे मांगने पर जान से मारने की धमकी भी दी । पीडित ने मामले की जानकारी पुलिस को दी पुलिस ने तहरीर लेकर दो भाइयों समेत तीन के विरुद्ध संबंधित धाराओ में मुकदमा दर्ज कर लिया।
 ज्वालापुर कोतवाली अंतर्गत रामलीला ग्राउंड के पास परचून की दुकान करने वाले मृणांक कौशिक पुत्र सत्यनारायण कौशिक निवासी कनखल ने क्षेत्र में रहने वाले एक परिवार को उधार सामान दिया  था। लाक डाउन के चलते इंसानियत के नाते दुकानदार ने उधार सामान देने से मना नहीं किया। बिल हजारों रुपए पहुंच गया तो उसने सामान लेने आए युवक से उधारी का कुछ पैसा जमा करने के लिए बोला। दुकानदार से सामान लेने के बाद युवक अपने घर गया और भाई से दुकानदार द्वारा पैसे मांगने की बात बोली । इस बार दोनों भाई अपने एक साथी के साथ दुकानदार के पास पहुंचे और उससे उल्टा सीधा बोलने लगे। इस बात का दुकानदार ने विरोध किया तो गाली गलौज कर उसे दुकान से खींच कर मारपीट करने लगे। आसपास के लोगों ने पहुंच कर दुकानदार को मारपीट करने वाले लोगों से अलग किया। पीडित दुकानदार ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस ने दी और मारपीट करने वाले लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की गुहार लगाई। ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया पीडित दुकानदार से तहरीर लेकर मारपीट करने वाले नौशाद , जुबेर पुत्रगण राव शमशाद व शहबाज निवासीगण रामलीला ग्राउंड ज्वालापुर के विरुद्ध संबंधित धाराओ में मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच कर आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।
-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-