पंचायती अखाड़ा निर्मल के कोठारी ने कराया धोखाधडी का मुकदमा 

हरिद्वार।
कनखल स्थित पंचायती अखाडा निर्मल का विवाद एक बार फिर सामने आ रहा है।  अखाड़े के कोठारी ने संस्था के फर्जी लेटर हेड व मोहर का इस्तेमाल कर फर्जी सोसाइटी बनाने वाले ग्यारह लोगों के खिलाफ धोखाधडी का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर धोखाधडी की जांच शुरू कर दी हैं।
कनखल थाना प्रभारी विकास भारद्वाज ने बताया की पंचायती अखाडा निर्मल के कोठारी जसविंदर सिंह ने तहरीर देकर संस्था के लेटर हेड मोहर आदि का फर्जी इस्तेमाल करने वाले ग्यारह लोगों के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है। धोखाधड़ी करने के लिए  उपनिबंधक सोसाइटी फर्म एंड चिट्स रोशनाबाद में पत्रावली परिवर्तन करने के लिए 19 अगस्त 2019 में महंत रेशम सिंह को संस्था का अध्यक्ष दर्शांया गया था। जबकि महंत रेशम सिंह संस्था के अध्यक्ष नहीं हैं। धोखाधडी कर अखाडे की संपत्ति को खुर्द बुर्द करने की साजिश की गई है। अखाडे की संपत्ति देश के अनेक राज्यों में स्थापित है। फर्जी दस्तावेज इस्तेमाल करने वाले ग्यारह लोगों के मुकदमा दर्ज किया गया है । थाना प्रभारी ने बताया कि जिन लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है उनमें महंत रेशम सिंह चेला महंत भगवान सिंह निवासी ग्राम निर्मल डेरा शिकवा फिरोजपुर पंजाब, हाकम सिंह पुत्र जोरा निवासी गढ सिंह वाला संगरूर पंजाब, बाबा कश्मीर सिंह चेला महंत गुरुदयाल निवासी डेरा तपोवन तरनतारन रोड अमृतसर पंजाब, महंत संतोष सिंह चेला महंत सुंदर सिंह  निवासी ग्राम बादली होशियारपुर पंजाब, प्रेम सिंह पुत्र मक्खन सिंह निवासी ग्राम मुरली आगरा अफजाल गुरदासपुर पंजाब, महंत जगजीत सिंह पुत्र महंत महेंद्र सिंह निवासी निर्मल संतपुरा कनखल, कमलजीत पुत्र किशन सिंह निवासी जेडी भवानीगढ संगरूर पंजाब, महंत गोपाल चेला निरंजन सिंह निवासी अखाडा संत मूल सिंह एवेन्यू अमृतसर पंजाब,  सुखा सिंह चेला बाबा कश्मीर सिंह निवासी डेरा तपोवन भूमि वाले अमृतसर पंजाब,  महंत मीका सिंह चेला सुरजीत सिंह निवासी सतगुरु साहिब तरनतारन पंजाब व जगतार सिंह चेला  दर्शन सिंह निवासी निर्मल डेरा पिंड नैनेवाली बरनाला पंजाब शामिल है। मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।