युवती की हत्या उसके प्रेमी ने ही की थी

धनौरी। गुरुवार को कलियर मेहवड के बीच गंगनहर से मिले एक युवती के अज्ञात शव की शिनाख्त शनिवार को उसके परिजनों ने की थी। पुलिस द्वारा की गई जांच मे पता चला कि युवती की हत्या उसके प्रेमी ने ही की थी। युवती के परिजनों की तहरीर पर धनौरी पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी थी। रविवार को इस मामले का खुलासा करते हुए एसपी देहात स्वपन किशोर ने बताया कि गुरुवार को कलियर मेहवड के बीच गंगनहर से पुलिस को एक अज्ञात युवती का शव मिला था। पुलिस ने शिनाख्त के लिए शव को रुड$की के सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया था। शनिवार को युवती के परिजनों ने शव की शिनाख्त रानीपुर कोतवाली के गढ$मीरपुर निवासी ममतेश उर्फ रेखा पुत्री राजू के रूप में की थी। युवती के परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस को नामजद तहरीर दी थी। उससे पहले रानीपुर कोतवाली में गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। रविवार को तहरीर के आधार पर धनौरी पुलिस ने उक्त मामले में मुकदमा दर्जकर छानबीन शुरू कर नामजद आरोपी युवक राजपुर निवासी नदीम पुत्र हनीफ को तेलीवाला उर्फ शिवदासपुर तिराहा धनौरी से गिरफ्तार किया। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि मृतक युवती के साथ करीब चार साल से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती उस पर लगातार शादी करने का दबाव बनाती चली आ रही थी। गुरुवार को युवती डालुवाला गांव में अपनी नानी के घर गई थी। उसी दिन वह बेगमपुर सिडकुल में जाने को कह कर अपनी मौसी के लड$के की बाइक पर बैठकर धनौरी आई थी। धनौरी में उसने अपने फोन से कॉल कर अपने प्रेमी नदीम को बुलाया था। धनौरी से दोनों कलियर स्थित अमजद गेस्ट हाऊ स में शाम तक रहे। आरोपी ने बताया कि वहां से दोनों पैदल ही धनौरी के लिए नई नहर पटरी पर चल दिए। इसी बीच मृतक युवती उससे फिर शादी करने के लिए दबाव बना रही थी। उसने मृतक युवती से नहर पटरी पर बैठकर बात करने को कहा। जब दोनों नहर पटरी पर बैठ गए तभी आरोपी युवक ने मौका देखते ही युवती को गंगनहर में धक्का दे दिया। युवती को नहर में बहता देख आरोपी युवक मौके से फरार हो अपने घर चला गया। धनौरी पुलिस ने रविवार को आरोपी युवक को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी को पकड$ने में कलियर थानाध्यक्ष जगमोहन रमोला, धनौरी पुलिस चौकी प्रभारी यशवंत सिंह खत्री, हेड कांस्टेबल अहसान अली सैफी, कांस्टेबल महेंद्र नेगी, पप्पू कश्यप, रुपेश चमोला, सुबोध कुमार, संजयपाल, सुरजीत सिंह, देवी प्रसाद उप्रेती, सोफिया अंसारी, संजीव कुमार आदि पुलिस टीम शामिल रही।