प्रान्तीय उद्योग व्यापार मण्डल की बठक सम्पन्न

 

हरिद्वार

अपर अपर रोड़ पर प्रान्तीय उद्योग व्यापार मण्डल की बठक सम्पन्न हुई जिसमें जिला प्रशासन की दमनकारी नीतियों के विरोध में आयोजन कि ग ई जिसमें प्रान्तीय उद्योग व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष डा नीरज सिंगल ने कहा कहा की सरकार लाॅकडाउन से अब तक व्यापारियों को कोई भी राहय पैकेज देने में असमर्थ रही हैं आज भी हरिद्वार जिले का व्यापारी अपने आपको असहज महसूस कर रहा हैं उन्होंने कहा की कम से कम कुम्भ मेला प्रारम्भ होने से पहले हरिद्वार के व्यापारियों को अपनी दुकानों में माल भरने के लिए स्पेशल कुम्भ पैकेज ही दिया जाता एक तरफ तो कहा जा रहा हैं की आगमी कुम्भ भव्य होगा दूसरी और दो माह कुम्भ मेले‌ में रह गये हैं सभी कमी जैसे सड़क निर्माण घाट निर्माण पुल निर्माण अभी अधूरे ही पड़े हैं सभी विकास कार्य चहेते ठेकेदारो के भरोसे छोड़ दिए गये हैं जिला महामंत्री संजय त्रिवाल ने कहा की लाकॅडाउन के बाद से अब तक कुछ दिनो से ही दुकाने खुल रही हैं तो अब जिला प्रशासन व्यापारियों को अतिक्रमण में उलझाना चाहता हैं जगह जगह मुनादी करवाई जा रही हैं उन्होंने कहा पहले सरकारी अतिक्रमण हरकी पौड़ी तथा भीमगोडा से हटना चाहिए फिर व्यापारियों की बात की जाए सरकार कोई भी पैकेज देने की बजाय अब अतिक्रमण के नाम पर व्यापारियों को उजाड़ना चाहती इसका सड़को पर विरोध किया जाएगा आश्रमो के बाबाओ को कुम्भ मेले के लिए 1 करोड़ रूपये दिए जा रहे हैं स्वयं मुख्यमंत्री घोषणा कर रहे हैं लेकिन हरिद्वार के व्यापारियों को केवल आश्वासन दिए जा रहे हैं क्या हरिद्वार के व्यापारी इस देश और प्रदेश के निवासी नहीं उनकी सुध प्रशासन और सरकार क्यों नहीं ले‌ रही हमारे साथ ऐसा र्दोयम दर्जे का व्यवहार किस लिए किया जा रहा हैं बैठक में: रविन्द्र मिश्रा,पवन सुखिजा,दिनेश कुकरेजा,शोभित सिंगल, गोपालदास गोस्वामी,सचिन त्रिवाल,संजीव सक्सेना, आकाश सक्सेना, बिट्टु सांई,नितेश कुमार,सुभम् चौहान,बाबू चौहान,दीपक,महेश कुमाए,सुरेश शाह,सुनील कुमार आदि उपस्थित थे।प्रान्तीय उद्योग व्यापार मण्डल की सम्पन्न हुई जिसमें जिला प्रशासन की दमनकारी नीतियों के विरोध में आयोजन कि ग ई जिसमें प्रान्तीय उद्योग व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष डा नीरज सिंगल ने कहा कहा की सरकार लाॅकडाउन से अब तक व्यापारियों को कोई भी राहय पैकेज देने में असमर्थ रही हैं आज भी हरिद्वार जिले का व्यापारी अपने आपको असहज महसूस कर रहा हैं उन्होंने कहा की कम से कम कुम्भ मेला प्रारम्भ होने से पहले हरिद्वार के व्यापारियों को अपनी दुकानों में माल भरने के लिए स्पेशल कुम्भ पैकेज ही दिया जाता एक तरफ तो कहा जा रहा हैं की आगमी कुम्भ भव्य होगा दूसरी और दो माह कुम्भ मेले‌ में रह गये हैं सभी कमी जैसे सड़क निर्माण घाट निर्माण पुल निर्माण अभी अधूरे ही पड़े हैं सभी विकास कार्य चहेते ठेकेदारो के भरोसे छोड़ दिए गये हैं जिला महामंत्री संजय त्रिवाल ने कहा की लाकॅडाउन के बाद से अब तक कुछ दिनो से ही दुकाने खुल रही हैं तो अब जिला प्रशासन व्यापारियों को अतिक्रमण में उलझाना चाहता हैं जगह जगह मुनादी करवाई जा रही हैं उन्होंने कहा पहले सरकारी अतिक्रमण हरकी पौड़ी तथा भीमगोडा से हटना चाहिए फिर व्यापारियों की बात की जाए सरकार कोई भी पैकेज देने की बजाय अब अतिक्रमण के नाम पर व्यापारियों को उजाड़ना चाहती इसका सड़को पर विरोध किया जाएगा आश्रमो के बाबाओ को कुम्भ मेले के लिए 1 करोड़ रूपये दिए जा रहे हैं स्वयं मुख्यमंत्री घोषणा कर रहे हैं लेकिन हरिद्वार के व्यापारियों को केवल आश्वासन दिए जा रहे हैं क्या हरिद्वार के व्यापारी इस देश और प्रदेश के निवासी नहीं उनकी सुध प्रशासन और सरकार क्यों नहीं ले‌ रही हमारे साथ ऐसा र्दोयम दर्जे का व्यवहार किस लिए किया जा रहा हैं बैठक में: रविन्द्र मिश्रा,पवन सुखिजा,दिनेश कुकरेजा,शोभित सिंगल, गोपालदास गोस्वामी,सचिन त्रिवाल,संजीव सक्सेना, आकाश सक्सेना, बिट्टु सांई,नितेश कुमार,सुभम् चौहान,बाबू चौहान,दीपक,महेश कुमाए,सुरेश शाह,सुनील कुमार आदि उपस्थित थे।