आत्मनिर्भर भारत-स्वरोजगार, स्वदेशी दीपावली मेला आयोजित

 

हरिद्वार।

जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने आज ऋषिकुल मैदान में आत्मनिर्भर भारत-स्वरोजगार, स्वदेशी दीपावली मेला एवं कोविड-19 के सम्बन्ध में एक प्रेस वार्ता को सम्बोधित किया।
श्री सी. रविशंकर ने कोविड-19 के टेस्टिंग के सम्बन्ध में पत्रकारों को बताया कि हमने टेस्टिंग के लिये 2000 का लक्ष्य रखा था, लेकिन इधर हम इस लक्ष्य को पार करते हुये कभी 2500 यहां तक कि कभी-कभी 3000 हजार के आसपास टेस्ट कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग में काफी सुधार आया है।
जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना से संक्रमित होने की दर कम होने की वजह से यह वर्तमान में पूरे देश में नियंत्रण में है। लेकिन आगामी त्योहारों-दीपावली आदि तथा लोगों की यात्रा करने की वजह से या जाड़े में इसके बढ़ने की आशंका की वजह से संक्रमितों की संख्या बढ़ सकती है। ऐसे में हमें और अधिक जागरूक होने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आगामी कुम्भ मेला भी हमारी चुनौती है, जिसके लिये हम पूरी रणनीति बनाकर तैयारी कर रहे हैं।
पत्रकारों के एक प्रश्न के उत्तर में कि- आज कोविड-19 की क्या स्थिति है, के उत्तर में जिलाधिकारी ने कहा कि टेस्टिंग में दिन-पर-दिन बढ़ोत्तरी हो रही है, लेकिन अभी भी रिजल्ट आने में हमारी लैब न होने की वजह से देरी हो रही है। उन्होंने कहा कि हम सभी को सतर्कता बरतनी है। उन्होंने कहा कि जो सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क पहने के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, ऐसे लोगों में जागरूकता बढ़ाई जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा 88 हजार मास्क वितरित किये जा चुके हैं। लैब स्थापित करने के सम्बन्ध में पूछे जाने पर जिलाधिकारी ने बताया कि कुम्भ से पहले जनवरी तक लैब स्थापित हो जायेगी।
जिलाधिकारी ने पत्रकारों को बताया कि जिला प्रशासन की ओर से शहर के मुख्य रूप से पांच स्थानों में पहले आत्मनिर्भर भारत-स्वरोजगार, स्वदेशी दीपावली मेला आयोजित करने की योजना थी, लेकिन बाद में विचार-विमर्श करने के पश्चात तीन जगहों- नेहरू स्टेडियम, रूड़की,  ऋषिकुल मैदान एवं बीएचईएल के सेक्टर-04 क्षेत्रों में ये मेले आयोजित किये गये। उन्होंने बताया कि रूड़की व सेक्टर-4 में काफी लोग खरीददारी कर रहे हैं। उन्होेंने बताया कि इस मेले में केवल स्वदेशी सामान की ही बिक्री होगी, विदेशों से आयातित कोई भी सामान इसमें नहीं बिकेगा। इस मेले के लिये जो भी स्टाॅल बनाये गये हैं, वे निःशुल्क आवंटित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि जो गरीब व्यापारी हैं, उन्हें प्रथम आवत-प्रथम पावत के तहत स्टाल आवंटित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि इस मेले के आयोजन का हमारा मुख्य उद्देश्य निचले तबके की आर्थिक स्थिति को मजबूत करना है तथा उनके कारोबार को आगे बढ़ाने के लिये सहारा देना है। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से थोड़ी मन्दी है। उन्होंने कहा कि आप लोगों से भी मीडिया के माध्यम से इनका अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने की अपेक्षा है।
पत्रकारों द्वारा पूरे शहर में सड़कों की खुदाई होने की वजह से धूल ही धूल होने के बारे में पूछे जाने पर जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी कुम्भ की वजह से कई विकास कार्य चल रहे हैं, जिसकी वजह से हरिद्वारवासियों को इन दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, वे धन्यवाद के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य करने वाली एजेंसियों को पानी का छिड़काव करने के निर्देश दिये गये हैं, छिड़काव अनिवार्य रूप से किया जायेगा। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा नोटिस दी जा रही है। अगर सुधार नहीं आया तो सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी।
पार्किंग की समस्या के बारे में पूछे जाने पर जिलाधिकारी ने कहा कि पार्किंग बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मल्टीलेबल पार्किंग बननी चाहिये। एक दो जगहों के लिये सुझाव आये हैं, उनमें से ऋषिकुल मैदान के सम्बन्ध में भी विचार हो सकता है।
आस्था पथ पर गैस पाइप लाइन टूटने के प्रश्न के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने कहा कि किस वजह से गैस पाइप लाइन टूटी, उसकी थर्ड पार्टी जांच के आदेश दे दिये गये हैं। अवैध मिट्टी खनन के प्रश्न के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने कहा कि अवैध खनन करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी।
स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग के सम्बन्ध में किये गये प्रश्न के उत्तर में जिलाधिकारी ने कहा कि जहां भी सोशल डिस्टेंसिंग की शिकायत आयेगी, उसका संज्ञान लिया जायेगा। उन्होेने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिये हम प्रत्येक घरों में स्टीकर चिपकाने जा रहे हैं। दिसम्बर के अन्त तक यह कार्य हो जायेगा।
पत्रकार वार्ता के पश्चात जिलाधिकारी ने ऋषिकुल मैदान में आत्मनिर्भर भारत-स्वरोजगार, स्वदेशी दीपावली मेले के प्रत्येक स्टाल में जाकर उनके उत्पादों के सम्बन्ध में जानकारी ली तथा उनके उत्पादों की सराहना की एवं उनका उत्साहवर्द्धन किया।
पत्रकार वार्ता में मुख्य चिकित्साधिकारी एसके झा भी उपस्थित थे।