रामकृष्ण सेवा आश्रम के संत करते हैं निस्वार्थ सेवा-श्रीमहन्त महेश्वर दास

राहुल चौरसिया
हरिद्वार।
श्री रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम कनखल के द्वारा संचालित स्वामी विवेकानंद डायलिसिस केंद्र के सुचारू  तौर पर संचालन  के लिए श्री उदासीन पंचायती बड़ा अखाड़ा राजघाट कनखल के श्री महन्त महेश्वर दास महाराज ने 51 हजार रुपए दान दिए। वे आज इस केंद्र को देखने के लिए रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में आए थे। उन्होंने इस केंद्र की सुविधाओं की  जमकर तारीफ की और उसे अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त बताया ।
श्री पंचायती उदासीन बड़ा अखाड़ा का मिशन के सचिव स्वामी नित्य शुद्धानंद महाराज और स्वामी दयाधिपानंद महाराज ने इस सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।
 इस मौके पर महन्त महेश्वर दास महाराज ने कहा कि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम कनखल निस्वार्थ भाव से मानव सेवा का कार्य कर रहा है और जरूरतमंदों को मुफ्त में सहायता प्रदान करने के साथ-साथ उन्हें मुफ्त में इलाज भी उपलब्ध करा रहा है। उन्होंने कहा कि मिशन स्वामी विवेकानंद के विचारों को धरातल पर उतारने का कार्य श्रद्धा ,आस्था  ,निस्वार्थ और समर्पण भाव से कर रहा है । मिशन के संत निस्वार्थ भाव से सेवा कार्य करते हैं।
इस अवसर पर अखाड़ा के कोठारी महन्त दामोदर दास महाराज ने कहा कि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम की अत्याधुनिक चिकित्सा सेवाओं का लाभ हरिद्वार ही नहीं बल्कि आसपास के जिलों और उत्तर प्रदेश के कई जिला के लोग उठा रहे हैं। मिशन के संतों में समर्पण का भाव है और वे निस्वार्थ भाव से सेवा करते हैं।         रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम के सचिव स्वामी नित्यशुद्धानंद महाराज ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि नर सेवा नारायण सेवा है, रामकृष्ण मिशन पूरी दुनिया में इसी भाव से कार्य कर रहा है। स्वामी दयाधिपानंद महाराज ने कहा कि रामकृष्ण मिशन कनखल ने कोरोना काल में लॉकडाउन के समय  जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री मुफ्त में उपलब्ध कराकर मानव सेवा का कार्य किया और  अब मिशन सर्दियों में जरूरतमंद लोगों को कपड़े, फल, मास्क ,साबुन तथा अन्य आवश्यक खाद्य सामग्री वितरित करने का अभियान को चलाए हुए हैं।यह कार्य जरूरतमंदों की बस्ती में जाकर किया जा रहा है।इस अवसर पर मिशन के स्वामी उमेश्वरानंद मंजू महाराज ,स्वामी जगदीश महाराज समेत कई संत उपस्थित थे।