धार्मिक संपत्ति हडपने का प्रयास दो लोगों पर मुकदमा

हरिद्वार। क्राइम रिपोर्टर

नगर कोतवाली क्षेत्र में एक धर्मिक सम्पत्ति को साजिश के तहत हडपने के प्रयास का मामला प्रकाश में आया है। जिसके सम्बंध में प्राचीन अवधूत मण्डल निवासी एक शख्स ने दो व्यक्तियों को नामजद करते हुए धोखाधडी का मामला नगर कोतवाली में दर्ज कराया है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
नगर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अमरजीत सिंह ने बताया कि विपुल कुमार निवासी प्राचीन अवधूत मण्डल ज्वालापुर ने तहरीर दी कि श्रवणनाथ नगर हरिद्वार स्थित एक धार्मिक सम्पत्ति  स्वामी शिवराम दास ट्रस्ट शिवधाम को अपराधिक षडयंत्र रच कर हडपने का प्रयास किया जा रहा है। स्वामी शिवराम दास ट्रस्ट के पंजीकरण वर्ष 2015 को आगामी 5 सालों के लिए नवीनीकरण किया गया था। नवीनीकरण आवेदन प्रपत्र में  प्रबंधकारिणी व कार्यकारिणी समिति सूची कूटरचित है। सूची में दर्शाये गए प्रकाश महाराज जिनका निधन वर्ष 2012 और सदस्य अनंत प्रकाश महाराज का निधन वर्ष 2013 में हो चुका है। नवीनीकरण आवेदन प्रपत्र में उनके नाम के हस्ताक्षर किये गये है। नवीनीकरण का समय वर्ष 20१0 में पूर्ण हो चुका हैं और सभी सदस्यों का निधन भी हो चुका है। रोहताश कुमार नाम का व्यक्ति जिसका अवधूत मण्डल आश्रम के हनुमान मन्दिर में आना—जाना था। जिसको सभी तथ्यों की जानकारी थी। जिसने साजिश के तहत उक्त सम्पत्ति को हडपने की योजना बनायी और उसके द्वारा कूटरचित प्रपत्र तैयार कर फर्जी हस्ताक्षर के जरिये प्रपत्र तैयार का उनको असली प्रपत्र के रूप में इस्तेमाल किया गया। संस्था की नियमावली के अनुसार संस्था की साधारण सभा से पारित प्रस्ताव के द्वारा ही संस्था में कोई नियुक्ति की जा सकती है। रोहताश कुमार पुत्र आशा राम ने 14 जनवरी 20१३ का प्रारूप पत्र तैयार किया तथा उस पर जेडी मलिक महामंत्री के फर्जी हस्ताक्षर के जरिये अपने को न्यायालय में मुकदमे की पैरवी के लिए अधिकृत दर्शाया गया। जेडी मलिक का निधन 12 फरवरी 20१1 को हो चुका है। रोहताश कुमार ने असली प्रपत्र के रूप में दर्शाते हुए उपनिबंधक सोसायटी रजिस्ट्रार हरिद्वार के समक्ष प्रस्तुत कर लाभ उठाने का अपराधिक कृत्य किया है। वहीं रोहताश कुमार ने स्वामी हंस प्रकाश के नाम से एक कूटरचित  12 मई 20१२ को तैयार करते हुए उस पर स्वामी हंस प्रकाश के फर्जी हस्ताक्षर जिसमें उसने स्वयं को गैर संस्था स्वामी  शिवराम दास ट्रस्ट का उपप्रबंधक होना दर्शाया है। कूटरचित प्रपत्र को असली प्रपत्र के रूप में दर्शाते हुए उपनिबंधक सोसायटी रजिस्ट्रार कार्यालय में प्रस्तुत कर लाभ उठाने का अपराधिक कृत्य किया है। रोहताश कुमार ने सम्पत्ति को हडपने की नीयत से गुलशन राय नारंग पुत्र हीरा लाल नांरग निवासी शक्ति नगर ग्रीन रोड रोहतक हरियाणा को अपने साथ मिलाया है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर दोनों के खिलाफ संबंधित धाराआें में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-