सड़कों पर वाहन पार्किंग वाली विवादों का कारणों,जानिए क्यों…

हरिद्वार। संवाददाता
खाली सडकों पर वाहन खडे करने वालों का कब्जा जारी है। चौपहिया वाहन मालिक खाली सडको पर अपने वाहनो को अनाधिकृत रूप से पार्क कर रहे है। सडकों के किनारे पर दर्जनों वाहन खडे करने से यातायात पर प्रतिकूल असर पड रहा है। आये दिन लोगों की नोकझोंक वाहन खडे करने को लेकर होना आम बात हो रही है। नीजि वाहनों की बढती संख्या पार्किग स्थल ना होना ज्वालापुर उपनगरी एवं हरिद्वार की सडकों की सबसे बडी समस्या बनती जा रही है। खाली सडके वाहन पार्किंग के रूप मे इस्तेमाल किये जाने के चक्कर में आये दिन एेसे स्थल विवाद का केन्द्र बनते जा रहे है। कुछ वाहन स्वामी खाली सडकों पर जबरदस्ती घंटो के हिसाब से अपने वाहनों को सडकों के किनारे लगा जाते है। अघिकांश खाली स्थल वाहन पार्किंग को लेकर विवाद को उत्पन्न कर रहे है। ज्वालापुर के जटवाडा पुल, ऊं ची सडक, आर्यनगर चौक,रेलवे चौकी मार्ग,प्रेम नगर नये पुल के अलावा बंद पडे$ अशोका टॉकिज स्थल पर अनाधिकृत रूप से दर्जनो चौपहिया वाहन घंटो के हिसाब से खडे रहते है। अपर रोड, हरकी पौड$ी भी अनाधिकृत वाहनों की चपेट में है। व्यापारी संजय त्रिवाल का कहना है कि कुंभ निधि से खाली पड$ी सरकार की भूमि पर पार्किंग स्थल बनाये जाने चाहिये। बाहर से आने वाले यात्रियों व श्रद्धालुआें को सुविधाये ंमिल सकें। जबकि कुछ वाहन चालक तो खाली सडकों के किनारों को वाहनों की बुकिंग स्थल के रूप मे इस्तेमाल कर रहे है। सामान को लाने ले जाने की बुकिंग सडकों के किनारों से ही संचालित की जा रही है। पुलिस प्रशासन का ध्यान इस आेर नही जा रहा है। सडकों के यातायात को सुचारू रूप प्रदान करने मे जुटी सीपीयू पुलिस भी एेसे वाहन चालकों व वाहन स्वामियों पर कोई कार्यवाही नही कर रही है। अनाधिकृत रूप से वाहन सडकों पर खडे करने वालों की संख्या बढ$ती ही जा रही है। सडकों के किनारों पर लगाये जा रहे वाहनों से व्यापारी भी तंग आ चुके है। यातायात भी प्रभावित हो रहा है। गौरतलब यह भी है कि धर्मनगरी मे वाहन पार्किग स्थल ना होना सबसे बडी समस्या बनता जा रहा है। जनप्रतिनिधियो को वाहन पार्किग स्थल ना होने की परेशानियो के हल तलाशने होंगे वरना कभी भी बडा विवाद उत्पन्न हो सकता है। कुंभ मेले में भी वाहन पार्किग की दिक्कतों का सामना लोगों को करना पड$ सकता है। धर्मनगरी के अलावा बाहर से आने वाले यात्रियों का भी वाहन पार्किग की जगह होनी चाहिए।