ठंड ऐसी कि गजराज को भी छूटी कंपकंपी

हरिद्वार से सम्वाददाता..

उत्तराखंड के पहाड़ों पर हो रही लगातार बर्फबारी के बाद निचले इलाकों में शीतलहर का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। राजाजी टाइगर रिजर्व के पालतू हाथियों के ठंड से बचाव के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। ठंड से हाथियों की तबीयत खराब न हो इसके लिए चिकित्सकों की सलाह पर मेडिसिनल सप्लीमेंट्स दिए जा रहे हैं।
बता दें कि राजाजी टाइगर रिजर्व की चीला रेंज में राधा, रंगीला, राजा के अलावा तीन शिशु हाथी रानी, जाॅनी और सुल्तान हैं। इनकी देखभाल के लिए खास इंतजाम किए हुए हैं। हाथियों को शीतलहर से बचाने के लिए हाथी बाड़े में तिरपाल की व्यवस्था की गई है। वहीं हाथियों के लिए घास पत्तियां बिछायी जाती हैं, ताकि हाथियों को ठंड न लगे।
रेंज अधिकारी अनिल पैन्यूली का कहना है कि शीतलहर से हाथियों की सुरक्षा के लिए सभी तरह के इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा हाथियों को गन्ना और गुड़ नियमित रूप से खिलाया जा रहा है। पशु चिकित्सक नियमित रूप से हाथियों का चेकअप करने आते हैं। हाथियों की देखभाल के लिए पांच कर्मचारी भी रखे गए हैं।
चीला रेंज के अधिकारी अनिल पैन्यूली का कहना है कि सर्दियों के मौसम में पार्क में शिकारी सक्रिय हो जाते हैं। इसको देखते हुए हमारे द्वारा पार्क क्षेत्र में लगातार गश्त की जा रही है। सभी कर्मचारियों को अलर्ट मोड पर रखा गया है। उनका कहना है कि नए साल और 25 दिसंबर को देखते हुए सभी कर्मचारियों को सघन गश्त करने के निर्देश दिए गए हैं। गश्त के दौरान पार्क क्षेत्र में जंगली जानवरों पर नजर रखी जाती है।