बसेड़ा खादर हत्याकांड के दो आरोपी गिरफ्तार

विनीत चौधरी
लक्सर।
पांच दिन पूर्व बसेड़ा खादर गांव में पुरानी रंजिश के चलते दिनदहाड़े हुए हत्याकांड के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि तीन आरोपित अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है।लक्सर कोतवाली में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी देहात स्वपन किशोर सिंह ने बताया कि विगत सोमवार को बसेड़ा खादर गांव में हुई एक युवक की हत्या के मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि बसेड़ा खादर गांव में करीब पिछले दो साल से दो परिवारों में किसी बात को लेकर रंजिश चली आ रही थी। इसी रंजिश के चलते सोमवार को एक परिवार के शिवपाल आदि ने राजेश के पुत्र दीक्षित व रिश्तेदार पर उस समय गोली चला दी थी। जब वे बहादरपुर खादर अड्डे से अपने घर वापस लौट रहे थे। गांव के बाहर शिव मंदिर के पास पहले से घात लगाए बैठे शिवपाल आदि ने पहले तो उनकी बाइक को रोका तथा फिर तमंचे से उनके ऊपर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। जिससे आशीष उर्फ जैकी पुत्र रविंद्र निवासी ग्राम जेहरा जनपद सहारनपुर की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि उसका फुफेरा भाई दीक्षित गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया था। तथा हमलावर मौके से फरार हो गए थे। उक्त घटना की रिपोर्ट दर्ज करने के बाद पुलिस की पांच टीमें उसी दिन से हत्या आरोपियों की तलाश कर रही थी।
एसपी देहात ने बताया कि उक्त घटना के संबंध में बसेड़ा गांव निवासी राजेश द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर बसेड़ा खादर गांव निवासी शिवपाल व अर्जुन पुत्र चुन्नीलाल, मनोज उर्फ राजू पुत्र नेत्रपाल, राहुल पुत्र ओमवीर व मैनपाल पुत्र घसीटा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस ने उक्त हत्याकांड में मैनपाल पुत्र घसीटा व मनोज उर्फ राजू पुत्र नेत्रपाल को गांव से सेठपुर जाने वाले रास्ते पर स्थित राजू के मुर्गी फार्म से गिरफ्तार कर लिया है। जबकि मुख्य आरोपित सहित तीन आरोपित अभी फरार है। शीघ्र ही अन्य तीनों आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
पुलिस टीम में कोतवाल हेमेंद्र सिंह नेगी, कोतवाली के एसएसआई नितेश शर्मा, नगर चौकी प्रभारी मनोज नौटियाल, उपनिरीक्षक संजय रावत व बुद्धि सिंह पवार, कांस्टेबल मनोज मलिक, गंगा मुख्य थे।