मासूम हत्याकांड : पुलिस ने दबोचा फरार आरोपी का भाई

-फरार आरोपित को मदद करने वाला सगा भाई गिरफ्तार
– आरोपित के विरुद्ध कुर्की कार्रवाई शुरु
हरिद्वार। (चन्द्र शेेेखर जोशी)
बालिका के साथ दुष्कर्म करने के बाद हत्या करने में नामजद आरोपित को मदद करने वाले फरार आरोपित के सगे भाई को पुुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ करने के बाद मेडिकल कराने के बाद कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया। वारदात में शामिल मुख्य आरोपित को पुुलिस घटना वाले दिन ही गिरफ्तार कर चुकी है। नामजद फरार आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुुलिस की आठ टीमें आला अधिकारियों के निर्देश पर काम कर रही है। पुुलिस ने फरार आरोपित के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई शुरु कर दी है। आरोपित जल्द गिरफ्तार नही हुआ तो कोर्ट के आदेश पर कुर्की की जाएगी।
एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि मुख्य आरोपित रामतीर्थ यादव को उसी दिन गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था और दूसरे आरोपी की तलाश शुरु कर दी थी। घटनास्थल पर मिले वैज्ञानिक साक्ष्यों को गिरफ्तार रामतीर्थ यादव से मिलान के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला देहरादून भी भेजा जा चुका है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबूदई कृष्णराज एस ने दूसरे आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए लगभग 4 से अधिक पुलिसकर्मियों की टीम अन्य राज्यों के विभिन्न जनपदों में तलाश रवाना किया गया। दूसरे आरोपित की तलाश में लगी है जिसकी तलाश व गिरफ्तारी के लिए सभी संभावित ठिकानों में लगातार दबिश की जा रही है। मामले की जांच आईपीएस स्तर के अधिकारी सुश्री विशाखा अशोक रहाणे (सहायक पुलिस अधीक्षक नगर) को सुपुर्द की गई है। स्थानीय मुखबिर ने सूचना दी गई की दूसरे आरोपी राजीव पुत्र प्रभुदयाल का सगा छोटा भाई आज अपने आरोपित भाई को बचाने व फरार होने में मदद करने की नियत से उसके लिए पैसों व अन्य संसाधनों का इंतजाम करने के लिए हरिद्वार की तरफ आ रहा है। इस सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए सहायक क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में एक पुलिस टीम रोडवेज बस अड्डे पर तैनात हो गयी। पुलिस टीम ने आरोपित राजीव के छोटे भाई गौरव उर्फ गंभीर यादव पुत्र प्रभु दयाल निवासी 127 न्यू हरिद्वार कोतवाली ज्वालापुर को गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपी राजीव के संभावित स्थानों के बारे में महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं आरोपी राजीव के छोटे भाई को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। इस घटना में प्रकाश में आए आरोपी व फरार हुए आरोपी को आश्रय देने वालों के विरुद्ध कड$ी कानूनी कार्रवाई की जा रही। फरार आरोपित के विरुद्ध कोर्ट से 8२ वारंट प्राप्त कर चस्पा किया जाएगा। 8२ की कार्रवाई होने के बाद 8३ की कार्रवाई कर कुर्की की जाएगी।