ज्योतिष पीठ पर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के 50 वर्ष पूर्ण होने पर, हरिद्वार में होगा स्वर्ण जयंती महोत्सव

हरिद्वार (अमित शर्मा)।

सवर्ण ज्योति महोत्सव आयोजन के राष्ट्रीय संयोजक स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती की अध्यक्षता में एक आवश्यक बैठक कनखल स्थित शंकराचार्य आश्रम में आयोजित की गई ,जिसमें स्वर्ण जयंती महोत्सव के आगामी कार्यक्रमों को लेकर चर्चा की गई । बैठक में निर्णय लिया गया कि 10 जनवरी को हरिद्वार में स्वर्ण जोड़ी महोत्सव के तहत कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा ।जिसमें विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देने वाले 50 लोगों को ज्योति महोत्सव सम्मान से सम्मानित किया जाएगा ।
बैठक की जानकारी देते हुए शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के प्रतिनिधि शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने बताया कि सरस्वती के ज्योतिष पीठ पर अभिषेक के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में स्वर्ण ज्योति महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है । उन्होंने बताया उत्तराखंड राज्य में 4 चरणों में कार्यक्रम को आयोजित किया जाएगा।इसके तहत प्रथम चरण में ज्योर्तमठ में तीन दिवसीय कार्यक्रम 25 26 एवं 27 दिसंबर को आयोजित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड मे हल्द्वानी में 8 मई देहरादून में 23 मई को कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे । इस अवसर पर चार धामों के तीर्थ पुरोहितों के साथ शीतकालीन पूजा स्थलों की यात्रा को लेकर भी चर्चा की ग ई । बैठक में मातृ सदन के स्वामी शिवानंद , गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल,डा बृजेश सती ,डॉक्टर बी एम गौड,अनुरूद उनियाल, सच्चिदानंद सेमवाल ,महंत प्रेमा नंद, आचार्य नीतीश बढ़ाई राजेश सेमवाल शालिनी राजपूत विमला भंडारी महंत आशुतोष पुरी स्वामी शरणानंद स्वामी रामानंद उपस्थित रहे।