मैनचेस्टर अरिना में कॉन्सर्ट के दौरान धमाके, अभी तक किसी ने नहीं ली हमले की ज़िम्मेदारी

लंदन। अमेरिकी पॉप सिंगर ओरिआना ग्रांडे के मैनचेस्टर अरिना में कॉन्सर्ट के दौरान हुए धमाके पर पूरा यूरोप गुस्से में है। ताज़ा जानकरी के अनुसार इस हमले में 19 लोगों की मौत हो गई और 50 से ज्यादा घायल हो गए। इंटरनेट पर इस्लामिक स्टेट (आईएस) के समर्थकों ने “खुशी जाहिर की और आपस में बधाई संदेश भेजे।” हालांकि इस्लामिक स्टेट समेत किसी भी आतंकी संगठन ने अब तक इस धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है। ब्रिटिश पुलिस के अनुसार वे मैनचेस्टर अरीना के धमाके को आतंकी घटना से जोड़कर देख रहे हैं।

इस्लामिक स्टेट से जुड़े ट्विटर अकाउंट्स पर धमाके से जुड़े हैशटैग्स के साथ सेलिब्रेशन के मैसेज पोस्ट किए जा रहे हैं। कुछ यूजर्स दूसरी जगह भी ऐसे ही हमलों के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। कुछ ने इस हमले को सीरिया और इराक में किए गए हवाई हमलों का बदला बताया है। एक यूजर अब्दुल हक ने ट्वीट किया कि मोसुल और राक्का के बच्चों पर ब्रिटिश एयरफोर्स के फेंके गए बम अब मैनचेस्टर आ गए हैं। इस ट्वीट का संबंध इराक और सीरिया में आंतकियों के कब्जे के बाद अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन के किए गए हवाई हमलों से है। इस गठबंधन में ब्रिटेन भी शामिल हैं।

पिछले 12 साल में ये ब्रिटेन में हुआ सबसे बड़ा आतंकी हमला है। इससे पहले जुलाई 2005 में लंदन में हुए आत्मघाती बम धमाके में 52 लोग मारे गए थे। लंदन धमाका चार ब्रिटिश मुसलमानों ने किया था। अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार मैनचेस्टर धमाके और नवंबर 2015 में पेरिस में हुए बाटाक्लैन संगीत कार्यक्रम में हुए धमाके के बीच समानता है। पेरिस में हुए धमाके में 130 लोग मारे गए थे। हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *