इंदिरा के बाद भगत और प्रीतम में तकरार कांग्रेस अध्यक्ष ने अपना कुनबा बताया सुरक्षित

देहरादून(ब्यूरो प्रमुख)।

नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के भाजपा में बगावत संबंधी बयान पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कांग्रेस को नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि भाजपा की नहीं बल्कि अपने कुनबे को लेकर कांग्रेस चिंता करे। बंशीधर भगत के बयान पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा है।
प्रीतम सिंह का कहना है कि वैसे तो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष को कहने का पूरा अधिकार है। लेकिन कांग्रेस का कुनबा सुरक्षित है। बंशीधर भगत को पहले अपने कुनबे को देखना चाहिए। आज जिस प्रकार से परिस्थितियां उभरकर सामने आ रही हैं उससे भाजपा पूरी तरह असहज है। प्रीतम सिंह ने भाजपा को पूरी तरह भ्रष्टाचार में डूबा हुआ बताया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पर हाईकोर्ट का जजमेंट आता है कि भ्रष्टाचार के मामले में सीएम पर सीबीआई एफआईआर दर्ज करके इसकी जांच करे। ऐसे में भगत जी को इस मसले पर बताना चाहिए कि उनका इस विषय में क्या कहना है।
उन्होंने कहा कि कुंभ के निर्माण कार्य पर भाजपा के केंद्रीय मंत्री एक नहीं बल्कि दो बार आरोप दोहराते हैं कि भ्रष्टाचार हो रहा है। सूर्य धार झील निर्माण पर उनके सिंचाई मंत्री भ्रष्टाचार की जांच की बात करते हैं। वहीं लोहाघाट से भाजपा विधायक सदन में कार्य स्थगन प्रस्ताव लाते हैं, यह भी बंशीधर भगत को लोहाघाट के विधायक से पूछना चाहिए कि उन्होंने ऐसा क्यों किया। प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रदेश के सीएम त्रिवेंद्र रावत ने जब शपथ ग्रहण की थी तो उन्होंने कहा था कि भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की सरकार 100 दिन के भीतर लोकायुक्त लेकर आएगी, लेकिन लोकायुक्त का कहीं अता पता नहीं है।
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने किसान, महंगाई, रोजगार जैसे कई मुद्दों पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यह सभी प्रश्न भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत को अपनी सरकार के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से पूछने चाहिए। इसलिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत को कांग्रेस के कुनबे की बजाय पहले अपने कुनबे की तरफ देखना चाहिए।