मकर संक्रांति स्नान पर चप्पे—चप्पे पर रही सुरक्षा व्यवस्था

हरिद्वार(चन्द्रशेखर जोशी)। 

कुंभ मेले का प्रथम मकर संक्रांति स्नान भले ही शासन के नोटिफिकेशन में न रहा हो पर पुलिस प्रशासन की आेर से कोई कोर कसर नहीं छोड$ी गई। कुंभ मेला आईजी संजय गुंज्याल ने स्नान से एक दिन पहले मेले में तैनात पुलिस फोर्स पैरामिलिट्री फोर्स को ब्रीफिंग कर चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था की निर्देश दिए थे, जो गुरुवार को धरातल पर नजर आए। मकर संक्रांति स्नान पर्व पर मेला क्षेत्र को सात जोन व बीस सेक्टर में बांटा गया था। जोन का प्रभारी अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी को बनाया गया था तो सेक्टर प्रभारी पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी को बनाया गया था। स्नान के दौरान बाहर से आने वाले श्रद्धालुआें को हरकी पैड$ी क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए मुख्य द्वार में मेटल डिटेक्टर से होकर गुजरना पड$ रहा था। यातायात व्यवस्था भी सामान्य रही हाईवे पर किसी तरह का कोई जाम नहीं लगा। बाहर से आने वाले वाहनों के लिए निर्धारित स्थल पर पार्किंग की व्यवस्था बनाई गई थी। सुबह से ही हरकी पौड$ी समेत प्रमुख घाटों पर पुलिस फोर्स के अलावा पैरामिलिट्री फोर्स तैनात थी। गंगा घाटों पर बम डिस्पोजल स्कावड के अलावा डाग स्कावड भी घूम रहे थे। भीड$ नियंत्रण करने के लिए प्रमुख स्थानों पर घुड$सवार पुलिस तैनात की गई थी। हरकी पैड$ी पर सुबह कुंभ मेला आईजी संजय गुंज्याल, जिलाधिकारी सी रविशंकर, एसएसपी कुंभ मेला जन्मेजय खंडूडी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबूदई कृष्ण राज एस क्षेत्र में भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे थे। सीसीआर में बने सीसी टीवी कंट्रोल रूम से घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेकर पैनी नजर रखी जा रही थी और संदिग्धों पर ही निगाह रखी जा रही थी। मेला क्षेत्र में प्रमुख पुलों पर पैरा मिलिट्री फोर्स के अलावा पुलिस फोर्स के जवान आने जाने वाले श्रद्धालुआें के बीच संदिग्धों पर भी निगाह जमा हुए थे। हरकी पैड$ी स्नान करने वाले श्रद्धालुआें को कड$ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच से होकर गुजारना पड$ रहा था हालांकि मकर संक्रांति स्नान पर्व पर प्रशासन के अनुमान से ज्यादा श्रद्धालुआें की भीड$ तीर्थनगरी में पहुंची। स्नान सुरक्षा व्यवस्था में डेढ$ हजार से ज्यादा प्रदेश का पुलिस बल, पांच कंपनी पैरामिलिट्री फोर्स, आठ कंपनी पीएससी के अलावा होमगार्ड्स पीआरडी के जवान तैनात थे। इसके अलावा बीडीएस व डाग स्कावड टीमें मेला क्षेत्र में भ्रमण कर संदिग्ध होने पर तलाशी कर रही थी। हरकी पैड$ी के मुख्य द्वार की आेर पुलिस प्रशासन की आेर से मेटल डिटेक्टर लगाया गया था। श्रद्धालुआें को उसी गेट से होकर स्नान के लिए भेजा जा रहा था। पुलिस प्रशासन की आेर से गंगा घाटों पर स्नान कर रहे बुजुर्ग  लोगों की सहायता भी की जा रही थी। इसके अलावा कोविड-19 के नियमों का पालन भी कराया जा रहा था जो बिना मास्क पहने गंगा घाटों पर आने वाले 1३2 लोगों का पुलिस ने चालान कर उन्हें मास्क भी पहनाए। राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी यातायात व्यवस्था के लिए पुलिस बल तैनात था। राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुबह से किसी तरह जाम की स्थिति नहीं बनी और यातायात सामान्य चलता रहा।