ट्रस्ट की सम्पति को बेचने पर मां—बेटे पर मुकदमा, जांच शुरू

हरिद्वार (चंद्रशेखर जोशी)। 

धर्मिक कौरादेवी देवी ट्रस्ट की सम्पति को बेचे जाने का मामला प्रकाश में आया है। ट्रस्ट के सचिव ने मां—बेटे के खिलाफ नगर कोतवाली में धेखाधडी से ट्रस्ट की सम्पति व मन्दिर बेचने का आरोप लगाया है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। नगर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अमरजीत सिंह ने बताया कि विशाल शर्मा पुत्र स्व. शंकर शर्मा निवासी—दुर्गानगर,भूपतवाला, हरिद्वार ने तहरीर देते हुए कहा कि वह मंहत रघुवंशपुरी कौरा देवी ट्रस्ट का ट्रस्टी व सचिव है। जिसको श्रीमती कौरादेवी पत्नी स्व. मंहत रघुवंशपुरी द्वारा 1१ सितम्बर 19८0 को बनाया था। जो कि सुचारू रूप पर अपना काम करता चला आ रहा है। आरोप हैं कि उक्त ट्रस्ट के स्वामित्व वाले मन्दिर सहित अन्य सम्पति को मोहित पुरी और उसकी माता पुष्पा पुरी ने अपने को पूर्व में कौरादेवी का वरिस बताते हुए नफनाजयज कमाने के लिए फर्जी तरिके से बेच दिया। जबकि उक्त लोगों का ट्रस्ट की सम्पति से कोई लेेना देना नहीं है। जब उसको मामले की जानकारी लगी तो उसने 17 जनवरी 2१ को मोहितपुरी से मिलकर एेसा करने से रोकना चाहा। आरोप हैं कि मोहितपुरी ने उसके साथ गाली गलौच करते हुए जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने ट्रस्टी एवं सचिव की तहरीर पर मां—बेटे के खिलाफ सम्बंधित धाराआें में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।