न्यूरोथेरेपी रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट का तीन दिवसीय अधिवेशन शुरू

 

हरिद्वार।

 लाजपत राय मेहरा न्यूरोथेरेपी रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट के संरक्षक अजय गांधी ने कहा कि न्यूरोथेरेपी चिकित्सा में बिना दवाई के मरीजों का इलाज किया जाता है। हर वर्ष 24, 25 व 26 जनवरी को संस्था का वार्षिक अधिवेशन किया जाता है।  इस बार उत्तराखंड के जनपद हरिद्वार में अधिवेशन किया गया है। जिसमें तय किया गया कि उत्तराखण्ड के प्रत्येक जनपदों में 1 सेंटर स्थापित किये जायेगे। इसके साथ ही उत्तराखण्ड के विद्यार्थियों को चंडीगढ$ में नि:शुल्क कोर्स कराया जायेगा। जबकि संस्था में एक छात्र से 6 हजार रुपये फीस ली जाती है। कहा कि कुंभ में शिविर लगाने के लिए मेला प्रशासन से मांग करेंगे। लाजपत राय मेहरा न्यूरोथेरेपी रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट का रविवार को अखिल भारतीय न्यूरोथैरेपिस्ट ऑर्गेनाइजेशन का तीन दिवसीय वार्षिक अधिवेशन जम्मू यात्री भवन में शुरू हुआ। जिसमें अजय गांधी ने देश के विभिन्न प्रदेशों से आए हुए समस्त न्यूरोथैरेपिस्ट व प्रतिनिधियों का हार्दिक अभिनंदन किया। इसके साथ ही इस विधा के समस्त समग्र विकास में उन सभी लोगों के योगदान की भरपूर सराहना की। उन्होंने बताया कि पूरे उत्तराखंड में इन दिनों 15 सेंटर चल रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसके लिए संगठन द्वारा स्थानीय युवाआें को खास रूप से प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए इच्छुक युवाआें को कम से कम 12वीं पास होना जरूरी है। पहले सत्र में न्यूरोथेरेपी चिकित्सा के क्षेत्र में हुई क्रांतिकारी उपलब्धियों व उसके भावी विकास की संभावनाआें की रूपरेखा आदि पर चर्चा हुई। इस मौके पर संरक्षक व संस्थापक महासचिव राम गोपाल परिहार ने कहा कि इस चिकित्सा विज्ञान का भविष्य बहुत उज्जवल है। यह प्रणाली पुरातन भारतीय वैकल्पिक चिकित्सा की अनमोल देन है। उन्होंने बताया कि स्वरोजगार के क्षेत्र में भी इस चिकित्सा प्रणाली का कोई विकल्प नहीं है। इस चिकित्सा प्रणाली का कोई दुष्प्रभाव भी नहीं पड$ता है। इसमें किसी भी प्रकार की औषधि का उपयोग नहीं होता है। शल्य—क्रिया को छोड$कर अन्य सभी रोगों में अत्यंत महत्वपूर्ण रूप से प्रभावी है। उन्होंने बताया कि देश भर में इसके दस हजार चिकित्सालय है, जहां से लगभग हर साल आठ लाख लोग इसका लाभ ले रहे हैं।इसके पूर्व ऑर्गेनाइजेशन के संरक्षक अजय गांधी, संरक्षक व संस्थापक महासचिव राम गोपाल परिहार, प्रधान अजय कुशवाहा, कोषाध्यक्ष सुमित महाजन, सचिव बरिंदर प्रसाद चौरसिया और मीडिया प्रभारी अशोक सिंह भारत आदि ने दीप प्रज्वलित किया। इसके पश्चात सभी ने इस चिकित्सा प्रणाली के जनक लाजपत राय जी के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्पांजलि  किया। इसके साथ ही कार्यक्रम के पहले सत्र का शुभारंभ हुआ।