भगवान राम मंदिर निर्माण के लिए निर्मल अखाड़ा के संतों ने दिया 2.51 लाख रूपये का दिया सहयोग


हरिद्वार। श्री पंचायती निर्मला अखाड़ा के पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञानदेव शास्त्री महाराज ने राम मंदिर निर्माण के समर्पण राशि के तहत 2.51 लाख रूपये का चेक विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मंत्री अशोक तिवारी, विहिप के प्रांत धर्माचार्य संपर्क प्रमुख राकेश बजरंगी और विहिप के जिला धर्माचार्य संपर्क प्रमुख मयंक चौहान को सौंपा। चेक सौंपते हुए पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञानदेव शास्त्री ने कहा कि सब कुछ उसका है। अखाड़ा परंपराओं के लिए समर्पित है। सभी कुछ राम का है। इसलिए अच्छा करते रहे और लोगों की सेवा करते रहो।
सोमवार को कनखल स्थित श्री पंचायती निर्मला अखाड़ा में विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मंत्री अशोक तिवारी, विहिप के प्रांत धर्माचार्य संपर्क प्रमुख राकेश बजरंगी और विहिप के जिला धर्माचार्य संपर्क प्रमुख मयंक चौहान पहुंचे। उन्होंने अखाड़ा के पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञानदेव शास्त्री महाराज के साथ अखाड़ा के संतों ने उन्हें 2.51 लाख रूपये का चेक सौंपा। श्रीमहंत ज्ञानदेव शास्त्री महाराज ने कहा कि भगवान राम सभी के अनुयायी हैं। उनका मंदिर भव्य बनना चाहिए। मंदिर निर्माण के लिए सभी को सहयोग करना चाहिए। उन्होंने खुशी जताई कि सभी अड़चनों के दूर होने पर अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास हुआ। विहिप के केंद्रीय मंत्री अशोक तिवारी ने कहा कि देश के साथ विश्व में रह रहे करोड़ों हिंदुओं की आस्था भगवान राम मंदिर को लेकर हैं। अब पूरे देशवासियों के साथ संतों के सहयोग से राम मंदिर का निर्माण संभव होगा। उन्होंने कहा कि मंदिर भव्य होगा। विहिप के जिला धर्माचार्य संपर्क प्रमुख मयंक चौहान ने श्रीमहंत के साथ अखाड़ा के सभी संतों का आभार जताया। इस मौके पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष एवं निर्मला अखाड़ा के सचिव महंत देवेंद्र सिंह, महंत जसविंदर सिंह, महंत दर्शन सिंह शास्त्री, महंत खेम सिंह, महंत सुखमन सिंह, महंत जसकरण सिंह, महंत लड्डू सिंह, महंत सिमरण सिंह, महंत अमनदीप सिंह शास्त्री, महंत बाबू सिंह आदि शामिल हुए।
वही दूसरी ओर श्री शम्भु पंचायती अटल अखाड़ा ने 31000 की धन राशि का चेक श्रीमहंत सत्यम गिरि , श्रीमहंत बलराम भारती आदि ने विहिप के पदाधिकारियों को सोपा।