ब्राह्मणों ने किया पुराना रानीपुर मोड़ का नामाकरण, अब होगा भगवान परशुराम चौक, स्थापित की धर्म ध्वजा व फरशा

हरिद्वार। पंचपुरी हरिद्वार के समस्त ब्राह्मण समाज द्वारा सामूहिक प्रयत्न से तीर्थ नगरी हरिद्वार में पुराना रानीपुर मोड पर ध्वजा एवं फरसा स्थापित कर चिरंजीवी भगवान परशुराम जी के नाम से चैक की स्थापना की गयी। अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद के प्रदेश अध्यक्ष पं. मनोज गौतम ने कहा कि आज यहां ध्वजा एवं फरसा को पूजित कर स्थापित किया जा रहा है इसके बाद आच्छादित चिरंजीवी भगवान परशुराम की मूर्ति स्थापित की जायेगी। संयोजक पं. बालकृष्ण शास्त्री ने पुराने रानीपुर चैराहे को परशुराम चैक एवं टिबडी से पुराने रानीपुर रोड तक की रोड को भगवान परशुराम मार्ग के नाम से करने का प्रस्ताव रखा जिसका सभी प्रतिनिधियों ने करतल ध्वनि एवं जय परशुराम के उद्घोष से समर्थन किया। अखण्ड परशुराम अखाडा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं. अधीर कौशिक ने कहा कि ब्राह्मण बाहुल्य नगरी में ब्राह्मणों के आराध्य भगवान परशुराम के नाम से यह पहली बार किसी चैक नाम रखा जा रहा है जिससे हमारी आने वाली पीढी प्रेरित होगी। उत्तराखण्ड ब्राह्मण सभा के प्रदेश अध्यक्ष पं. पद्मप्रकाश शर्मा ने सभी ब्राह्मण प्रतिनिधियों को इस कार्य हेतु शुभकामनाएं देते हुए कहा कि ब्राह्मण समाज का हमेशा अग्रणी रहा है उसने हमेशा समाज को सही दिशा प्रदान की है। इस कार्य को करने की परम आवश्यकता थी जिसे भगवान की कृपा से सभी ने मिलकर किया है। ब्राह्मण जागृति संस्था के महासचिव पं. संजय शर्मा ने कहा कि इस प्रकार के कार्यो से हमारे महापुरूषों का स्मरण होता रहता है। प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पं. शक्तिधर शर्मा ने कहा कि ब्राह्मण हमेशा सबके कल्याण की सोचता है।
इस मौके पर विहिप जिलाध्यक्ष नितिन गौतम, मनोज भारद्वाज, नरेश शर्मा, विट्टू पालीवाल, अभिषेक त्रिपाठी, विक्रांत शर्मा, सौरभ शर्मा, प्रवीण झा, शिखर पालीवाल, विकास तिवारी, संगम शर्मा, अमित शर्मा, विपिन शर्मा, विकास शर्मा, प्रशांत शर्मा, रविन्द्र उनियाल, पंकज शर्मा, सचिन तिवारी, सन्दीप प्रधान, शंकर पाण्डेय सहित हरिद्वार के समस्त ब्राह्मण संगठनों के सैकड़ों प्रतिनिधि उपस्थित थे।