राज्यपाल ने किया आपदाग्रस्त क्षेत्र का दौरा….


देहरादून। जोशीमठ तपोवन टनल में फंसे लोगों को बचाने के लिए जद्दोजहद बदस्तूर जारी है। एक प्रयास विफल होता है तो दूसरा तत्काल शुरू कर दिया जा रहा है। ऐसे में एक तरफ जहां अपने लोगों को तलाशने के लिए आए लोगों का सब्र जवाब दे रहा है तो वहीं राहत एवं बचाव कार्य में जुटे जवान पूरे जीजान से अंदर फंसे लोगों को निकालने की कोशिशों में जुटे हुए हैं।
आज राज्यपाल बेबीरानी मौर्य और विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने चमोली जनपद के तपोवन में आपदा ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया। इस अवसर पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि वे लगातार अधिकारियों के संपर्क में हैं और रेस्क्यू कार्य के बारे में जानकारी ले रही हैं। कहा कि यह बेहद दुखद घड़ी है और पूरा देश आपदा प्रभावित लोगों के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि यह एक प्राकृतिक आपदा है और यह आपदा किसी के बस में नहीं है। उन्होंने कहा कि जो लोग टनल में फंसे हुए हैं वे जल्द ही सुरक्षित बाहर आ जाएं यही उनकी ईश्वर से प्रार्थना है।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों सहित आर्मी के अधिकारियों से आपदा राहत कार्यों एवं रेस्क्यू हुए लोगों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष आपदाग्रस्त क्षेत्र में पहुंच कर आपदा प्रभावित लोगों से मिले। अग्रवाल ने आपदा प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया। साथ ही विधानसभा अध्यक्ष ने आपदा में मृतक हुए लोगों के परिवारों से मिलकर उन्हें सांत्वना व्यक्त करते हुए ढाढस बंधाया।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा है कि एनडीआरएफए एसडीआरएफए आइटीबीपीए स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन रेस्क्यू ऑपरेशन में युद्ध स्तर पर कार्य कर रही है। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि टर्नल में फंसे हुए लोगों को सुरक्षित निकालना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। जिसमें लगातार 24 घंटे रेस्क्यू किया जा रहा है। अग्रवाल ने कहा कि जल्द इसके सकारात्मक परिणाम मिलेंगे। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने भगवान से भी प्रार्थना की है कि टर्नल में फंसे लोग सुरक्षित बाहर निकल जाएं।
वहीं देहरादून में मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने मीडिया से बातचीत में कहा कि रेेस्क्यू कार्य तेजी से चल रहा है। दिक्कतें काफी हैं क्योंकि टनल में मलबे के साथ ही बड़े-नबड़े बोल्डर भी साथ में आ रहे हैं। जिसकी वजह से परेशानी हो रही है। उधर तपोवन में मीडिया से वार्ता के दौरान गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन का कहना है कि टनल में बचाव कार्य लगातार चल रहा है। टनल को ड्रिल करने की कोशिश भी की गई लेकिन तकनीकी दिक्कतों से यह नहीं हो पा रहा है लेकिन काम रोका नहीं गया है। जिलाधिकारी चमोली स्वाति भदौरिया का कहना है कि बचाव कार्य को जितनी तेजी से चलाया जा सकता है उस गति से काम किया जा रहा है।