कांवड पटरी मार्ग की हालत खराब, लगा गंदगी का अंबार

हरिद्वार।
कांवड यात्रा प्रारंभ होने में महज एक सप्ताह का समय रह गया है लेकिन अभी तक प्रषासन की तैयारियां पूरी नहीं हुई है। कांवड पटरी मार्ग जिस पर यात्रा का संचालन होना है। पटरी मार्ग पर जगह-ंउचयजगह कीचड फैला है और टूटी सडकों से पटरी मार्ग का बुरा हाल है। यही नहीं चारों ओर फैली गंदगी भी परेषानी का सबब बनी हुई है। बावजूद इसके प्रषासन कोई सुध नहीं ले रहा है। कांवड यात्रा उत्तर भारत की सबसे बडी यात्रा है। इसमें पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेष, राजस्थान और दूसरे प्रदेषों से षिव भक्त सावन के महीने में कावंड लेने हरिद्वार आते हैं। गंगा जल भरकर कांवड पैदल ही पटरी मार्ग से जाते हैं। हर साल कांवड यात्रा में करीब एक करोड से अधिक षिव भक्त आते हैं। इस बार भी करोडों षिव भक्तों के आने की उम्मीद है। कांवड यात्रा का प्रांरभ नौ जुलाई से होना है बावजूद इसके अभी तक नहर पटरी मार्ग पर कोई इंतजाम नहीं दिख रहे हैं। पटरी मार्ग पर इंतजाम ना होने के कारण षिव भक्त हाईवे पर जाने की जिद करते हैं इससे पुलिस और षिव भक्तों के बीच टकराव की स्थितिपैदा हो जाती है। यही कारण है कि पुलिस प्रषासन भी हर बार पटरी मार्ग पर सुविधाओं करने के लिए जोर देता है। लेकिन अभी तक पटरी मार्ग पर सुविधाएं ना होने के कारण बडी परेषानी का सामना कांवड यात्रा के दौरान करना पड सकता है। मूलभूत सुविधाओं के अलावा पथ प्रकाष व्यवस्था, पानी और सफाई की व्यवस्था होनी बाकी है। सबसे ज्यादा टूटी सडकों की मरम्मत होनी थी। जो अभी भी नहीं हुई है। इसके अलावा स्वास्थ्य को लेकर भी चिंताएं बनी हुई है।