आज आधी रात लागू होगा GST, विपक्ष का बहिष्कार, मशहूर हस्तियां होंगी शामिल

नईदिल्ली

GST

आज आधी रात से देश में गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स यानी लागू हो जायेगा। इसके साथ ही एक देश एक टैक्स सिस्टम देश भर में लागू हो जायेगा। देशभर में जीएसटी लागू करने के लिए सरकार ने आज संसद के सेंट्रल हॉल में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया है। सेंट्रल हॉल में आधी रात को घंटा बजाकर जीएसटी लॉन्च किया जायेगा लेकिन कांग्रेस, लेफ्ट, आरजेडी, टीएमसी और डीएमके ने इस कार्यक्रम का बॉयकॉट किया है। ख़बरों के मुताबिक महागठबंधन में शामिल जेडीयू समारोह में शामिल होगा

ऐप का बटन दबाकर लॉंच होगा।

 

GST

संसद के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ऐप का बटन दबाकर GST लॉंच करेंगे। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के अलावा इस ऐतिहासिक मौके पर उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी, स्पीकर सुमित्रा महाजन, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एच डी देवगौड़ा मौजूद रहेंगे। समारोह की शुरूआत रात 11बजे से होगी जो आधी रात को 12 बजकर 10 मिनट तक चलेगा।

-10 बजकर 30 मिनट पर स्पीकर, प्रधानमंत्री और उप-राष्ट्रपति संसद पहुंचेंगे।

-11 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आयेंगे। इसके 1 मिनट के बाद संसद के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रगान होगा।

-11 बजकर 3 मिनट पर वित्त मंत्री अरुण जेटली भाषण देंगे।

-11 बजकर 15 मिनट पर प्रधानमंत्री मोदी का भाषण होगा।

-राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी11बजकर 38 मिनट पर भाषण देंगे।

-ठीक आधी रात 12 बजे GST को लॉन्च कर दिया जायेगा।

तीसरी बार हो रहा है संसद में आधी रात को कार्यक्रम देश के इतिहास में इससे पहले केवल तीन ही ऐसे ऐतिहासिक मौके आये हैं जब आधी रात को संसद का विशेष कार्यक्रम रखा गया। पहली बार 1947 में आजादी के वक्त फिर आज़ादी की पच्चीसवीं सालगिरह यानी 1972 में और तीसरी बार आज़ादी की पचासवीं सालगिरह यानी 1997 में।

80 मिनट के इस कार्यक्रम में देशभर से मशहूर हस्तियां शामिल होंगी। इसके लिए देश की 100 शख्सियत को न्योता दिया गया है जिनमें अमिताभ, लता मंगेशकर सहित अन्य फिल्मी सितारों से लेकर बड़े बिजनेसमैन तक शामिल होंगे। इस कार्यक्रम में जीएसटी लॉन्च होने के बाद दो शॉर्ट फिल्में भी दिखाई जाएंगी।

विपक्ष कर रहा है बहिष्कार

लेकिन इस ऐतिहासिक कार्यक्रम का विपक्षी दल विरोध कर रहे हैं। कांग्रेस और लेफ्ट ने इसका बहिष्कार करने का ऐलान किया है। कांग्रेस ने तो संसद के सेंट्रल हॉल में आधी रात को हो रहे कार्यक्रम को परंपरा के खि़लाफ बताया है। टीएमसी और डीएमके भी कार्यक्रम में शामिल नहीं होने की बात पहले ही कह चुकी है हालांकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक बार फिर सबसे कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है।

हालांकि महागठबंधन में शामिल जेडीयू ने एक बार फिर कांग्रेस और आरजेडी से अलग रास्ता अख्तियार करते हुए कार्यक्रम में शामिल होने की बात की है जबकि आरजेडी पटना में जीएसटी के ख़िलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी दूसरी तरफ फेडरेशन ऑफ राजस्थान ट्रेड एंड इंटस्ट्री ने पूरे राज्य में बंद का आह्वान किया है। GST लागू करने के लिए केंद्र सरकार ने वित्त मंत्रालय में एक मिनी वॉर रूम बनाया है। मिनी वॉर रूम में कई फोन लाइन्स और कम्प्यूटर सिस्टम लगाए गए हैं। 1 जुलाई से देश में लगने वाले सभी अप्रत्यक्ष करों की जगह GST ले लेगा। इससे 16 तरह के टैक्स, 1,150 तरह की चुंगी, अलग-अलग कीमतों से देश को आज़ादी मिल जायेगी। GST से दुनिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था का टैक्स सिस्टम रातों रात बदल जायेगा।