एसटीएफ की टीम ने गुलदार की तीन खाल सहित दो तस्कर गिरफतार किये..

खटीमा/देहरादून ( अमित शर्मा)।
स्पेशल टास्क फोर्स, उत्तराखण्ड, (देहरादून) को गोपनीय रूप से सूचना प्राप्त हुई कि वन्य जीव जन्तुओं के अंगों की तस्करी करने वाले अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह के अपराधियों द्वारा उनके अंगों को ऊंचे दामों में बेचा जा रहा है। इस सम्बन्ध में श्रीमती रिधिम अग्रवाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने एसटीएफ की टीम का गठन किया। एसटीएफ की कुमायूं युनिट द्वारा सूचना संकलन एवं सत्यापन के उपरान्त लोहिया, थाना खटीमा क्षेत्रान्तर्गत सुरागरसी के दौरान दो अभियुक्तों 1- शेखर वर्मा उर्फ सन्नी पुत्र जितेन्द्र वर्मा निवासी मीना बाजार, थाना बनबसा, चम्पावत  2- दलजीत सिंह ग्रेवाल पुत्र करमजीत सिंह ग्रेवाल निवासी अशोक फार्म मेलाघाट रोड़, खटीमा, थाना-झनकईयां, उधमसिंहनगर को तीन गुलदार की खालों (Leopard skin) लगभग 6.5 फीट के साथ गिरफ्तार किया है । उक्त खाल लगभग 6 माह से 1 साल पुरानी है । अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में उक्त तेंदुओं की बरामद खालों की कीमत लगभग 30 लाख रूपये बताई जा रही है।
उक्त अवैध कार्य में प्रयुक्त किये जा रहे बुलेट दुपहिया वाहन संख्या यूके 04 यू – 9159 को भी सीज किया गया। उक्त अभियुक्तों विरूद्ध थाना खटीमा में वन्य जीव जन्तु संरक्षण अधिनियम एवं मोटर वाहन अधिनियम के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत कराया गया।
गिरफ्तार अभियुक्त ने पूछताछ करने पर बताया कि वह गुलदार के अंगों को नेपाल से लाकर टनकपुर, बनबसा, हल्द्वानी क्षेत्रों में व्यापार करते है। गिरफ्तार अभियुक्तों से विस्तृत पूछताछ की जा रही है। इस कार्यवाही में मुख्य रूप से एस0टी0एफ0 टीम के सदस्य (1) उपनिरीक्षक केपी टम्टा, (2) आरक्षी महेन्द्र गिरी, (3) आरक्षी गोविन्द सिंह, (4) आरक्षी किशोर कुमार, आरक्षी विरेन्द्र चैहान शामिल रहे ।