जीएसटी आर्थिक सुधार की दिशा में बहुत ही सकारात्मक कदम

हरिद्वार( प्रशांत शास्त्री)।
केन्द्रीय राज्य मंत्री विधि एवं न्याय एवं इलैक्ट्रिक सूचना प्रौद्योगिकी वी0पी0 चौधरी द्वारा केन्द्र सरकार की ओर से जी0एस0टी0 क्रियावन्यन की समीक्षा हेतु उत्तराखण्ड राज्य के भ्रमण के दौरान हरिद्वार में डामकोठी निरीक्षण भवन में केन्द्रीय जी0एस0टी डिवीजन के अधिकारियों एवं राज्य कर विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ विभिन्न उद्योगों एवं व्यापार संघों के पदाधिकारियों एवं सदस्यों के साथ विस्तृत परिचर्चा की। इस बैठक के दौरान उद्योग एवं व्यापार संघों के पदाधिकारियों द्वारा अनेक सम्भावित कठिनाईयों एवं आशंकाओं के सम्बन्ध में अपने विचार रखे। सिडकुल के पदाधिकारियों के द्वारा पूर्व में उद्योंगों को क्षेत्र विशेष में स्थापित करने के आधार पर प्राप्त हो रहे कर की छूट प्रतिपूर्ति करने के लिए केन्द्र सरकार को माननीय मंत्री जी के माध्यम से आग्रह किया गया। उक्त बैठक में एक तरफ होटल एसोशियेशन के पदाधिकारियों द्वारा अपनी बात रखी। बताया कि उत्तराखण्ड में पर्यटन में सीजनल होता है तथा यहां के होटल व्यवसाय को समाधान का लाभ दिया जाए तथा कर की दरों में कमी की जाए। अन्य व्यापार संघों के पदाधिकारियों द्वारा भी माननीय मंत्री जी के समक्ष अपने-अपने विचार बैठक के दौरान रखे गये। माननीय मंत्री महोदय द्वारा उद्योग व्यापार संघों के पदाधिकारियों को उनकी उचित मांगों एवं मांगों के सम्बन्ध में केन्द्र सरकार के समक्ष तथा जीएसटी कांउसिल के समक्ष प्रस्तुत करने का आश्वासन दिया गया तथा यह भी आश्वस्त किया गया कि केन्द्रीय एवं राज्य सरकार दोनों ही उद्योंग एवं व्यापार को बढ़ावा देने के लिए दृढ़संकल्प है तथा किसी भी व्यापार एवं टेड विशेष के प्रति अन्याय नहीं किया जायेगा। देश में जी0एस0टी0 लागू होने के प्रथम चरण में कुछ व्यवहारिक कठिनाइयां आ रही है, जिनका निराकरण भी तत्परता से किया जा रहा है। नीतिगत फैसलों के सम्बन्ध में जीएसटी काउंसिल की नियमित अन्तराल में बैठकें आहुत हो रही है तथा औद्योगिक एवं व्यापारियों के टैक्स एवं अन्य मामलों को जी0एस0टी0 काउंसिल की बैठक में विचारोपरांत निर्णय ले लिया जायेगा। जीएसटी क्रियान्वयन के प्रथम चरण में आ रही अनेक कठिनाईयों का निराकरण भी शीघ्र हो जायेगा तथा भविष्य में उत्पादन मूल्य कम होने से देश में उत्पादित माल अपेक्षाकृत सस्ता होने से न केवल देश के भीतर व्यापार में बढ़ोत्तरी होगी बल्कि इन उद्योगों को देश के बाहर निर्यात करने के अवसर बढ़ेंगे। बैठक के दौरान राज्य कर आयुक्त श्रीधर बाबू अद्दांकी के द्वारा माननीय मंत्री महोदय के समक्ष राज्य में स्थित उद्योंगों एवं व्यापार संघों के पदाधिकारियों के द्वारा बैठक के दौरान उठायी कठिनाईयों के सम्बन्ध में विभाग का पक्ष रखा। इनके द्वारा यह भी अवगत कराया गया हरिद्वार में उद्योगों एवं व्यापार संघों के पदाधिकारियों के साथ हरिद्वार सम्भाग के अधिकारियों के द्वारा दिन प्रतिदिन तारतम्य बैठक की जा रही है। इस दौरान ज्वाइण्ट कमिश्नर एवं अधीनस्थ अधिकारियों द्वारा अनेक कठिनाईयों एवं व्यापारियों की जिज्ञासाओं के सम्बन्ध में टेªनिंग कैम्प लगाये गये है तथा लगाये जा रहे हैं। इस दौरान छोटे व्यापारियों की सुविधाओं को दृष्टिगत रखते हुए न केवल हरिद्वार बल्कि विभिन्न दूरस्थ स्थानों भटवाड़ी, टिहरी, ढूंडा, चिन्यालीसैड आदि स्थानों पर अधिकारियों द्वारा छोटे व्यापारियों को जी0एस0टी0 के सम्बन्ध में जानकारी उपलब्ध करायी गयी है तथा ट्रेनिंग कैम्प आयोजित किये गये हैं तथा अधिकारियों के मोबाईल नं0 उपलब्ध कराये गये हैं। जिससे किसी भी जिज्ञासा के सम्बन्ध में अधिकारियों से सम्पर्क किया जा सके। इस सम्बन्ध में प्रथम चरण में कुल कठिनाईया आ रही है, जिसके निराकरण हेतु केन्द्र एवं राज्य सरकार तत्पर है। केन्द्र सरकार द्वारा वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को नोडल अफसर के रूप् में नामित किया गया है तथा राज्य सरकार के अधिकारियों तथा केन्द्रीय जीएसटी के अधिकारियों द्वारा तत्परता से निराकरण करने हेतु निर्देशित किया गया है।
बैठक में आयुक्त राज्य कर उत्तराखण्ड श्रीधर बाबू अद्दांकी, पियूष कुमार अपर आयुक्त राज्य कर, नवीन चन्द्र जोशी संयुक्त आयुक्त राज्य कर, अरुण कुमार संयुक्त आयुक्त, अनुराग मिश्रा उप आयुक्त राज्य कर, वीर सिंह उप आयुक्त राज्य कर, अमित गुप्ता ज्वाइन्ट कमिश्नर सैन्ट्रल जीएसटी, पल्लवव सक्सैना असिस्टेन्ट कमिश्नर सैन्ट्रल जीएसटी तथा , हरेन्द्र गर्ग अध्यक्ष राहुल सिघंवी सचिव इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ,पूर्व पालिकाध्यक्ष राज कुमार अरोड़ा, कैलाश केशरवानी(राष्ट्रीय सचिव उधोग व्यापार मण्डल), सुरेश गुलाटी, सुरेश भटेजा, संजीव नैय्यर आदि द्वारा प्रतिभाग किया गया।