राजनीतिक भष्ट्राचार कर रही भाजपा,बिहार,गुजरात के बाद यूपी में भी बड़ी सेंधमारी

लखनऊ(ब्यूरो)।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के कई नेताओं के इस्तीफों के बीच पूर्व सीएम और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शनिवार को सपा एमएलसी बुक्कल नवाब और यशवंत सिंह के इस्तीफा देने और कई नेताओं के बीजेपी खेमे में जाने की अटकलों के बीच अखिलेश ने बीजेपी पर कई आरोप लगाए। अखिलेश ने कहा कि विधायकों, पार्षदों को खरीदने की कोशिशें हो रही हैं।

राजनीतिक भ्रष्टाचार का लगाया आरोप

बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए अखिलेश ने कहा- बिहार में राजनीतिक भ्रष्टाचार किया है। DNA की बात NDA करती थी आप खुद देख लो। डीएनए और एनडीए में लेटर सेम हैं, पता नहीं कैसे डीएनए खराब वाले मिल गए। अखिलेश ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वो हमारे MLC को तोड़ रहे हैं। लालच दे रहे हैं. अभी मैंने बुक्कल नवाब के यहां मीठी सेंवई खाई थी. भाजपा वालों में हिम्मत नहीं है जनता के बीच जाने की. चार महीने के अंदर ही जनता के बीच जाने से डर गई ये पार्टी.

एमएलसी तोड़ना राजनीति भ्रष्टाचार

अखिलेश बोले कि सपा ऑफिस से बुक्कल को फोन किया था, लेकिन वो कहीं बैठे थे। बुक्कल अगर कैद नहीं हुए होंगे तब मैं उनसे पूछूंगा की क्या कारण है।

माया की मदद को तैयार अखिलेश

वहीं मायावती पर अखिलेश ने कहा कि अगर मायावती चुनाव लड़ती हैं तो मैं केवल इतना कहूंगा की समाजवादियों के सबसे अच्छे संबंध हैं. परिस्थिति के अनुसार राजनीति में किसकी कब मदद करनी पड़े या चाहिए उसके लिए तैयार रहना चाहिए।

वहीं बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि बीजेपी सत्ता की भूख के लिए हर सीमा पार करती है. मणिपुर, गोवा, बिहार, गुजरात और अब यूपी में ये करना लोकतंत्र के लिए खतरा हैं।

स्मार्ट सिटी पर कसा तंज
अखिलेश यादव ने मोदी सरकार के स्मार्ट सिटी पर तंज कसते हुए कहा कि मैं अमेरिका की तारीफ करूंगा क्योंकि वहां तरक्की इतनी है कि हम यहां सौ साल में भी पहुंच नहीं पाएंगे। हमारे यहां तो अब स्मार्ट को बोलते हैं कि बड़े स्मार्ट बन रहे हो। ये तीन साल हो गए लेकिन पता नहीं कहां स्मार्ट सिटी बना रहे हैं। हम पूजा करते हैं लेकिन प्रचार नहीं करते लेकिन ये लोग पूजा को बेचते हैं।अमेरिका में कोई जातपाति नहीं इसलिए तरक्क़ी हुई है।

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी वो सच्चे होंगे जिसका हर जाति का एक मित्र हो. उन्होंने कहा कि समाजवादी लोग संकल्प लें कि एक-एक समाजवादी सच्चा तब कहलाएगा जब उसका हर जाति का एक मित्र होगा। अखिलेश ने कहा- इस सरकार ने हमें बताया कि हम बैकवर्ड हैं। हां मैं भी मानता हूं कि मैं हूं लेकिन मैं बताऊंगा कि मैं सोच और काम में आप से ज्यादा फॉर्वर्ड हूं। आप के मंत्री ट्रांसफर-पोस्टिंग में लगे है।