गर्भवती को जलाकर मारने वाले पति व सास को कठोर सजा

विधि संवाददाता की रिपोर्ट

-ससुर व मामा को भी 3-3 वर्ष की सजा

हरिद्वार।
दहेज़ की मांग पूरी नही करने पर गर्भवती महिला के को जलाकर मारने के मामले में द्वितीय एडीजे सहदेव सिंह ने आरोपी पति व सास को 10-10 वर्ष की कठोर कैद व प्रत्येक पर छह-छह हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है। आरोपी ससुर व मामा को दहेज उत्पीड़न में 3-3 वर्ष की कैद व दोनों पर पन्द्रह सौ रुपये का जुर्माना लगाया है।
शासकीय अधिवक्ता राजकुमार राणा ने बताया कि रिपोर्टकर्ता महिला सुशीला ने 14 अप्रैल 2015 की रात सिडकुल क्षेत्र के औरंगाबाद गांव में अपनी गर्भवती पुत्री पर मिट्टी का तेल डालकर जलाने, दहेज के लिए उत्पीड़न व मारपीट करने का आरोप लगाया गया था। महिला ने पति,गुरमीत पुत्र अतरसिंह, सास गुड्डी पत्नी अतरसिंह, ससुर अतर सिंह पुत्र शोभा राम निवासी गण ग्राम औरंगाबाद सिडकुल, हाल पता शिवालिक नगर कोतवाली रानीपुर व पति के मामा सुभाष पुत्र धर्मपाल निवासी नई कुंडी थाना पथरी व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।बताया था कि उसकी पुत्री लखविंदर कौर की शादी आरोपी गुरमीत सिंह से हुई थी। पीड़ित पक्ष ने अपनी हैसियत से शादी में पांच लाख रुपये खर्च किए थे। लेकिन पुत्री के ससुराल वाले मिले दान दहेज से खुश नहीं थे। ससुराल वाले लगातार पुत्री को दहेज के लिए प्रताड़ित व मारपीट करते रहते थे। घटना से कुछ दिन पहले आरोपी गुरमीत सिंह देहरादून से अपने गांव औरंगाबाद आकर रहने लगा था। 13 अप्रैल 2015 की रात ससुराल वाले ने पुत्री को जान से मारने के लिए शरीर पर मिट्टी का तेल डालकर जलाने का प्रयास किया था। पीड़िता को हायर सेंटर देहरादून में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था।जहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई थी। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। घटना के एक वर्ष बाद सिडकुल पुलिस ने आरोपी पति गुरमीत सिंह, सास गुड्डी, ससुर अतरसिंह व सुभाष के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था।
सरकारी पक्ष ने साक्ष्य में 14 गवाह पेश किए।
महिला को जलाकर मारा गया था। उस समय वह तीन महीने की गर्भवती थी। गर्भ में पल रहे बच्चे को मारने का दोष साबित होने पर न्यायालय ने पति व सास को 5-5 वर्ष के कठोर कैद व दोनों को एक एक हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।
बुरी तरह से जली हालत में महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां मैजिस्ट्रेट को दिए बयान में मृतका ने ससुराल वाले पर मिट्टी का तेल डालकर जलाकर मारने का आरोप लगाया था।