आजादी के बाद जिन कानूनों पर बोलने से कतराते थे लोग उनपर पुस्तक लिख वास्तव में उत्कृष्ट कार्य किया अरविंद ने – बोली महामंडलेश्वर जय अंबानंद गिरी

जिन विषयों पर बोलने से सकुचाते थे उन विषयों का अपनी पुस्तक में समावेश कर एक उत्कृष्ट कार्य क्या है अरविंद ने – अनंत श्री विभूषित श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर श्री जय अंबा नंद गिरी जी
श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर अनंत श्री विभूषित श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर श्री जय अंबा नंद गिरी जी ने अधिवक्ता अरविंद श्रीवास्तव द्वारा लिखित पुस्तक (हां मैं विवादित हूं) की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज के समय में जो सच है वो कुछ व्यक्तियों के लिए विवादित हो सकता है, लेकिन कुछ समय बाद वह व्यक्ति भी उसी विवादित सच को स्वीकारने लगते हैं ।
उन्होंने आगे कहा कि समाज के उत्थान के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपना योगदान देना चाहिए यदि कोई अपने परिवार के कारण समाज के लिए समय नहीं निकाल पाता तब उसे जहां है वहीं से समाज उत्थान के लिए कार्य करना चाहिए । विदित हो हरिद्वार के अधिवक्ता अरविंद श्रीवास्तव ने भारत के कुछ कानूनों जिन पर आरंभ से विवादित होने का आरोप लगता रहा है उनका विश्लेषणात्मक संकलन कर एक पुस्तक लिखी है जो उन्होंने आज दिनांक 09/04/2021 को अनंत श्री विभूषित श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर श्री जय अंबा नंद गिरी जी को भेंट की इस अवसर पर युवराज, राजेश गिरी, नेहा सक्सेना, आदि उपस्थित रहे ।