Breakingउत्तराखंडस्वास्थ्य

कोरोना संक्रमण की स्थिति सामान्य होने से धीमी हुई टीकाकरण की रफ्तार

देहरादून। सरकार और स्वास्थ्य विभाग के तमाम प्रयासों के बावजूद उत्तराखंड में 20 प्रतिशत लोगों ने कोविड वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाई है। संक्रमण की स्थिति सामान्य होने से अब टीकाकरण की रफ्तार धीमी पड़ गई है। लोग बूस्टर डोज लगवाने के प्रति लापरवाह दिख रहे हैं।
कोरोना संक्रमण का खतरा अभी कम नहीं हुआ है। प्रदेश में लगातार संक्रमित मामले सामने आ रहे हैं। केंद्र सरकार की ओर से 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लिए कोविड वैक्सीन की बूस्टर डोज निशुल्क लगाई जा रही है। बावजूद इसके वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोग बूस्टर डोज के प्रति लापरवाही बरत रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश की कुल आबादी लगभग सवा करोड़ है। इसमें 12 वर्ष से अधिक आयु के 89.35 लाख से अधिक को कोविड वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके सापेक्ष एक पहली डोज में शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल किया गया, जबकि 95 प्रतिशत को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। दोनों डोज लगाने वाले 20 प्रतिशत को ही बूस्टर डोज लग पाई है। राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. कुलदीप सिंह मर्ताेलिया ने बताया कि कोरोना संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है, जिससे संक्रमण से सुरक्षा कवच के लिए बूस्टर डोज जरूरी है। सरकार की ओर से 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को निशुल्क बूस्टर डोज लगाई जा रही है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन अवश्य लगाएं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button