Breakingउत्तराखंडक्राइम

शराब कांड में प्रधान पद की प्रत्याशी का पति गिरफ्तार

-खेत में गड्ढा खोदकर छिपाई गई कच्ची शराब की खेप बरामद

हरिद्वार। हरिद्वार के फूलगढ़ शराब कांड में एसआईटी ने शनिवार देर रात प्रधान पद की प्रत्याशी बबली देवी के पति मुख्य आरोपी विजेंद्र को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की निशानदेही पर चाचा के खेत में गड्ढा खोदकर छिपाई गई कच्ची शराब की खेप भी बरामद कर ली गई है। जहरीली शराब पीने से अभी तक आठ ग्रामीणों की जान जा चुकी है। शराब बनाने से लेकर उसे छिपाने के आरोप में फरार चल रही प्रत्याशी बबली देवी और उसके देवर नरेश की तलाश में भी पुलिस टीमें छापेमारी में जुटी है।
आरोपी को रविवार दोपहर स्पेशल मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। बरामद की गई शराब को जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला में भेजा जाएगा। शनिवार को पथरी क्षेत्र के गांव फूलगढ़ में कच्ची शराब से छह ग्रामीणों की मौत हो गई थी जबकि एक ग्रामीण की मारपीट के कारण मौत होने की बात सामने आई थी। मामले में एसओ पथरी रविंद्र सिंह, तीन कांस्टेबल और आबकारी लक्सर सर्किल के निरीक्षक भरत प्रसाद समेत नौ आबकारी कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया था। मामले की जांच के लिए एएसपी रेखा यादव की अगुवाई में एसआईटी गठित कर दी गई थी। शनिवार को ही सीआईयू, पथरी पुलिस एवं एसआईटी जांच में जुट गई थी। पुलिस टीमों ने प्रारंभिक पूछताछ में चुनावी शराब होने की बात सामने आने पर प्रधान पद की महिला प्रत्याशियों के पतियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी थी। देर शाम प्रधान पद की प्रत्याशी बबली देवी के पति बिजेंद्र ने गुनाह कबूल कर लिया। देर रात उसकी निशानदेही पर गांव से कई किलोमीटर दूर उसके चाचा के खेत में दबाकर रखी गई करीब 35 लीटर कच्ची शराब की खेप बरामद कर ली गई। रविवार को पथरी थाना कैंपस में डीआईजी-एसएसपी डॉ योगेंद्र सिंह रावत ने पत्रकारों को बताया कि प्रत्याशी पति विजेंद्र ने अपनी पत्नी एवं भाई नरेश की मदद से छह माह पूर्व शराब तैयार की थी। उसने नामांकन से लेकर अब तक एक कैन शराब ग्रामीणों को पिला दी थी। जब कुछ ग्रामीणों की तबीयत बिगड़ने लगी थी तब उसने बची हुई शराब फेंक दी थी। आरोपी के घर से शीतलपेय की चार बोतलें, गिलास एवं उसके भाई की दुकान के नीचे बने तहखाने में भट्टी के उपकरण बरामद किए गए। डीआईजी ने बताया कि आरोपी को ग्रामीणों की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसकी पत्नी एवं भाई की तलाश जारी है। इस दौरान एसपी देहात परमेंद्र डोबाल, एएसपी रेखा यादव, सीओ लक्सर हेमेंद्र सिंह नेगी समेत कई पुलिसकर्मी मौजूद रहे।
—————————————-

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button