Breakingउत्तराखंडराज्य

जर्नलिस्ट यूनियन ने पत्रकारों की समस्याओं से डीजी को कराया अवगत

देहरादून। पत्रकारों की विभिन्न समस्याओं को लेकर जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ उत्तराखंड का एक प्रतिनिधिमंडल आज सूचना महानिदेशक वंशीधर तिवारी  से मिला। प्रतिनिधिमन्डल ने उन्हें आठ बिन्दुओं पर ज्ञापन सौपंते हुए पत्रकारों की लम्बित समस्याओं से अवगत कराया। सूचना  महानिदेशक ने सभी बिन्दुओं पर प्रतिनिमन्डल से विस्तार से चर्चा करते हुए इसके अतिशीघ्र समाधान का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमन्डल ने  महानिदेशक को बताया कि राज्य गठन के दो दशक बाद भी प्रेस मान्यता समिति का गठन नही हुआ है।
समिति का गठन न होने के कारण सरकारी स्तर पर मान्यतायें दी जा रही हैं जो लोकतान्त्रिक भावना के खिलाफ है। यूनियन ने उनसे अतिशीघ्र प्रेस मान्यता समिति गठित करने की मांग की। इसके अतिरिक्त सभी मान्यता और गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को मेडिकल सुविधा का लाभ  दिलाये जाने व उन्हें राज्य कर्मचारियों की भांति यूई हेल्थ कार्ड जारी करने की मांग की। यूनियन ने राज्य के सभी पत्रकारों को बीमा सुविधा उपलब्ध कराये जाने पर भी चर्चा की। यूनियन ने मान्यता प्राप्त पत्रकारों को रोडवेज बसों की तरह प्राइवेट बसों में भी सुविधा दिलाये जाने की मांग करते हुए महानिदेशक को बताया कि पहाड़ों मंे अधिकांश मार्गों पर सरकारी बसों का संचालन नही है जिससे पत्रकारों को उसका लाभ नही मिल पा रहा है। गढ़वाल मोर्टस यूनियन एवं कुमांऊ मोर्टस  आनर्स यूनियन से वार्ता कर पत्रकारों को यात्रा सुविधा का लाभ दिया जाए। यूनियन ने राज्य से प्रकाशित होने वाले सभी छोटे व मझोले समाचारपत्रों को कम से कम ढाई लाख रूपये का विज्ञापन दिलाये जाने की भी मांग की। यही नही उत्तराखन्ड से प्रकाशित होने वाले ऐसे सभी दैनिक व साप्ताहिक समाचारपत्रो को विशेष पैकेज दिये जाने की मांग की जो पैतिस वर्ष से निरन्तर प्रकाशित हो रहे है। यूनियन के पूर्व अध्यक्ष व वरिष्ट पत्रकार जयसिह रावत ने  महानिदेशक को सूचना विभाग का पुर्नगठन कर नाम के अनुरूप सूचना केन्दित बनाये जाने का सुझाव देते हुए विज्ञापन नीति को भी पारर्दशी व प्रदेश हित मे बनाये जाने की बात कही। प्रतिनिधिमन्डल में यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर प्रवीन मेहता, प्रदेश महामन्त्री गिरीश पन्त,पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जयसिंह रावत, यूनियन के जिला अध्यक्ष मो0 शाहनजर शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button