Breakingउत्तराखंडराज्यसामाजिक

बड़ी रामलीला का शुभारंभ जूना अखाड़ा के श्रीमहंत केदारपुरी तथा निर्मल अखाड़ा के कोठारी श्री महंत जसविंदरसिंह शास्त्री ने किया मंगल दीप प्रज्वलित एवं नारियल तोड़कर

हरिद्वार ।श्रीरामलीला कमेटी रजि. द्वारा आयोजित बड़ी रामलीला का शुभारंभ जूना अखाड़ा के श्रीमहंत केदारपुरी तथा निर्मल अखाड़ा के कोठारी श्री महंत जसविंदरसिंह शास्त्री ने मंगल दीप प्रज्वलित एवं नारियल तोड़कर किया।प्रथम दिवस की रामलीला देखने पधारे श्री गुरुकृपा औषधालय के संस्थापक वैद्य एम.आर शर्मा ने सर्वोत्तम व्यवस्थाओं के लिए श्रीरामलीला कमेटी की मुक्त कंठ से सराहना की।
           आयोजकों एवं दर्शकों को आशीर्वचन देते हुए श्रीमहंत केदारपुरी ने कहा कि श्रीहरि के अवतारों में श्री राम की लीला ही समाज के लिए सर्वाधिक प्रेरणादायी है जो मर्यादित आचरण एवं संस्कारित जीवन आत्मसात करने का संदेश देती है, और श्रीरामलीला कमेटी इस दायित्व का निर्वाह तन्मयता के साथ कर रही है।शुभता का प्रतीक नारियल तोड़कर श्रीरामलीला के सकुशल संपन्न होने की कामना करते हुए श्रीमहंत जसविंदरसिंह शास्त्री ने कहा कि श्रीरामलीला का दर्शन समाज को परोपकार के साथ स्वावलंबी एवं दृढ़ निश्चयी बनने की प्रेरणा देता है। उन्होंने श्रीरामलीला कमेटी की संपूर्ण कार्यकारिणी को व्यवस्था प्रधान आयोजन के लिए साधुवाद देते हुए कहा कि बड़े और अच्छे कार्य करने से ही व्यक्ति और संस्था बड़ा कहलाने के हकदार होते हैं । रामलीला का शुभारंभ देवताओं के राजा इंद्र के दरबार से हुआ जिसमें देवर्षि नारद की तपस्या का संज्ञान लिया गया और इंद्र ने कामदेव को नारद की तपस्या भंग करने का आदेश दिया। नारद ने अपने तपोवल से जब कामदेव पर विजय प्राप्त कर ली तो उन्हें अभिमान हो गया, जिसको श्रीहरि ने उनका स्वरूप बदल कर अपने कर्तव्य मार्ग पर अडिग रहने की सीख दी।सपत्नीक रामलीला का दर्शन करने आए भारत प्रसिद्ध आयुर्वेद के ज्ञाता वैद्य एम आर शर्मा एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती पुष्पा शर्मा पार्षद नगर निगम हरिद्वार का श्रीरामलीला कमेटी की ओर से स्वागत एवं अभिनंदन किया गया।श्रीरामलीला कमेटी को अपनी कलाकृति से महानता प्रदान करने में जिन कलाकारों का सराहनीय योगदान रहा वे हैं कामदेव के स्वरूप में उभरते कलाकार निश्चय सहगल तथा गरिमामय अभिनय करने वाले भगवान श्रीहरि विष्णु के स्वरूप में अंकित तिवारी की पात्रता की दर्शकों ने करतल ध्वनि से सराहना की । संपूर्ण समाज के लिए रामलीला को उपयोगी बनाने में जिनका योगदान है उनमें अध्यक्ष वीरेंद्र चड्ढा, उपाध्यक्ष सुनील भसीन ,महामंत्री महाराजकृष्ण सेठ ,मुख्य दिग्दर्शक भगवत शर्मा ‘मुन्ना’, संपत्ति कमेटी के मंत्री रविकांत अग्रवाल, महिला स्वागत अध्यक्ष अंजना चड्ढा , कोषाध्यक्ष रविंद्र अग्रवाल , मंच संचालक विनय सिंघल, सहायक दिग्दर्शक साहिल मोदी, मंत्री डॉ संदीप कपूर,कन्हैया खेबड़िया,रमेश खन्ना,ऋषभ  मल्होत्रा, विशाल गोस्वामी, राहुल वशिष्ठ,,दर्पण चड्ढा, मनोज वेदी, अनिल सखूजा, विकास सेठ,गोपाल छिब्बर, माधव वेदी तथा अंकित शर्मा इत्यादि प्रमुख थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button