Breakingउत्तराखंडसामाजिक

धारा के विपरित चलने वाले की बनती है पहचान: शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद

पत्रकार की लेखनी से होता है समाज का निर्माण: करन माहरा

-बिकाऊ मीडिया का हो बहिष्कार : अनंत मित्तल

-गणेश शंकर विद्यार्थी जयंती समापन समारोह में हुआ विभुतियों का सम्मान

हरिद्वार। अनंत श्री विभूषित ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज ने कहा कि धारा के साथ चलना आसान है लेकिन धारा के विपरीत चलने वाले की पहचान बनती है। जों धारा के विपरीत बहकर लक्ष्य प्राप्त कर सके, ऐसे लोग वीर कहलाते हैं।

उक्त विचार जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज ने प्रेस क्लब हरिद्वार के सभागार में आयोजित नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया उत्तराखंड इकाई हरिद्वार के तत्वावधान में आयोजित गणेश शंकर विद्यार्थी जयंती समापन समारोह को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि गणेश शंकर विद्यार्थी ने अपने उपनाम को छोड़कर विद्यार्थी कहलाने का गर्व महसूस किया। इससे साफ जाहिर होता है कि उन्होंने जीवन भर सीखने का प्रयास किया। एक नेता होने के बावजूद उन्होंने स्वयं को पत्रकार के रूप में स्थापित किया। ऐसे पत्रकार की जयंती समारोह में शामिल होकर उन्हें गर्व महसूस हो रहा है और इसके लिए एनयूजे आई उत्तराखंड के सभी पत्रकारों को शुभकामनाएं देते हैं। इस मौके पर शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती महाराज ने भारत-पाकिस्तान के विभाजन पर भी सवाल उठाये। उन्होंने कहा बंटवारे का कोई औचित्य नहीं है क्योंकि बंटवारे के बाद भी मुस्लिम समाज के लोग पूर्व की भांति निवास करते चले आ रहे हैं जबकि बंटवारे की मांग मुस्लिम समाज की ओर से ही की गई थी। ऐसे में सभी मुस्लिम समाज के लोगों को पाकिस्तान चले जाना चाहिए था। लेकिन ऐसा नहीं हुआ ऐसे में बंटवारा रद्द किया जाना चाहिए।
कार्यक्रम में उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने कहा लोकतंत्र में पत्रकारिता का महत्वपूर्ण स्थान है। पत्रकारों की लेखनी से ही समाज की दिशा तय होती है। इसीलिए पत्रकारों को सकारात्मक पत्रकारिता पर ध्यान देना चाहिए। करन माहरा ने कहा कि उत्तराखंड को बने हुए 22 साल बीत गये है लेकिन अभी तक राज्य निर्माण का सपना अधूरा पड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि राम के नाम पर राज करने वाली पार्टी राम को ही भूल गई है। गंगा की दुर्दशा हो रही है। करोड़ों रुपये खर्च करने के बाद भी गंगा आज भी प्रदूषित है। राजनीतिक इच्छा शक्ति के आभाव में केवल राम के नाम पर ही राजनीति की जा रही है। लेकिन राम राज्य से इनका कोई सरोकार नहीं है। मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार अनंत मित्तल ने कहा कि आजकल मीडिया पर बिकाऊ होने का आरोप लगाया जा रहा है, ऐसी मीडिया का लोगों को बहिष्कार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिकाऊ मीडिया को देखना, पढ़ना और सुनना बंद कर देना चाहिए। ऐसा होने से बिकाऊ मीडिया की दुकान अपने आप बंद हो जायेगी। बिगड़ती संस्थाओं को सुधार करना ही लोक तंत्र की सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। जैसी समाज की चाल होगी वैसा ही पत्रकार होगा। उन्होंने तीर्थनगरी से प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का आह्वान भी किया।
इसके पूर्व एनयूजे आई की ओर से शहर के विभिन्न क्षेत्रों में कीर्तिमान स्थापित करने वाले लोगों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। जिसमें लम्बे समय से पत्रकारिता के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले वरिष्ठ पत्रकार आदेश त्यागी, साप्ताहिक सृष्टि वक्ता के 25 वर्ष पूर्ण कर रंजत जंयती मनाने वाले सम्पादक विक्रम छाछर, दिव्यांग बच्चों को सक्षम बनाने के लिए समर्पित संस्था व्योम फाउंडेशन के संस्थापक विभाष मिश्रा, हरिद्वार के वरिष्ठ चिकित्सक एवं वृक्ष मित्र डॉ. यतीन्द्र नाग्यान, सनातन धर्म और संस्कृति का देश विदेश में प्रचार करने वाले शिवोपासना संस्थान डरबन साऊथ अफ्रीका के संस्थापक एवं निरंजनी अखाड़े के स्वामी रामभजन वन महाराज, अष्टवक्रासन योग में गिनेज वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम करने वाली डॉ. प्रिया अहूजा, उत्तराखंड बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा की टॉपर दिया राजपूत, परशुराम अखाड़े के संस्थापक पं. अधीर कौशिक एवं आस्था हेल्प फाउंडेशन के संस्थापक अमित सैनी को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इसके पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामचंद्र कन्नोजिया ने संस्था का परिचय कराया। वहीं वरिष्ठ पत्रकार एवं मार्गदर्शक पीएस चौहान ने गणेश शंकर विद्यार्थी के जीवन पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन डॉ. शिवा अग्रवाल ने किया। यूनियन के प्रदेश संरक्षक सुनील दत्त पाण्डेय, जिलाध्यक्ष राहुल वर्मा, महासचिव संदीप रावत संयोजक मंडल के अध्यक्ष बालकृष्ण शास्त्री, गढ़वाल मंडल अध्यक्ष धर्मेन्द्र चौधरी, गढ़वाल मंडल महासचिव निशांत चौधरी, अवधेश शिवपुरी, सुनील पाल, विकास झा, अमित शर्मा, ठाकुर शैलेन्द्र सिंह, रविन्द्रपाल सिंह, पुलिकत शुक्ला, सचिन कुमार, संतोष कुमार, अश्विनी विश्नोई, सुमित यशकल्याण सहित अन्य सदस्यों ने अतिथियों को प्रतीक चिन्ह एवं फूल-माला पहनाकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में नगर पालिका परिषद के पूर्व चेेयरमैन सतपाल ब्रह्मचारी, मंहत ऋषिश्वरानंद, ब्रह्मचारी श्रवणानंद, ब्रह्मचारी रामानंद, ब्रह्मचारी मुकुदानंद, प्रेस क्लब अध्यक्ष श्रवण झा, महासचिव अश्वनी अरोड़ा, पूर्व अध्यक्ष राजेश शर्मा, पूर्व महासचिव राजकुमार, मुरली मनोहर वरिष्ठ कांग्रेस नेता, विजय सारस्वत प्रदेश महामंत्री कांग्रेस, रामयश सिंह पूर्व विधायक, नेहा मलिक समाजसेवी, किरण सिंह कांग्रेस नेत्री, रतन ठाकुर, भूपेंद्र कुमार बीजेपी नेता, अंजू द्विवेदी, अमन गर्ग पार्षद, राजपाल खरोला, रतन मणि डोभाल, देव संस्कृति विश्वविद्यालय पत्रकारिता के छात्र, डॉ सत्यनारायण शर्मा, संजय महंत जी, मनोज खन्ना, रामेश्वर गौर, दीपक जखमोला, अमर सिंह, पुष्पराज धीमान, दिनेश भारद्वाज, विश्वास सक्सेना, कमला जोशी, गणेश वेद्य, आनंद गोस्वामी, राधेश्याम विद्याकुल, नितिन गौतम, राजीव चौधरी, हिमांशु भट्ट, रमन वशिष्ठ, अमरीश कुमार, तनवीर अली, सन्दीप शर्मा आदि बडी संख्या में पत्रकार एवं समाजसेवी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button